भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जबलपुर में एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के हेडमास्टर को माफ कर दिया है. एक खबर के मुताबिक हेडमास्टर को जिला प्रशासन ने निलंबित कर दिया था, क्योंकि हेडमास्टर ने कमलनाथ को डाकू कह दिया था.

इस हफ्ते की शुरुआत में वायरल हुए एक वीडियो में कुछ लोगों को संबोधित करते हुए मुकेश तिवारी ने सीएम के लिए डाकू शब्द का उपयोग किया था. कांग्रेस के एक नेता की शिकायत के बाद, जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज ने गुरुवार को हेडमास्टर को आचरण नियमों का उल्लंघन करने के लिए निलंबित कर दिया था.

शनिवार को जब सीएम ने इसके बारे में सुना, तो उन्होंने आदेश दिया कि निलंबन रद्द किया जाए. उन्होंने कहा, 'मैं हमेशा से बोलने की स्वतंत्रता का एक समर्थक रहा हूं. यह सच है कि उसका व्यवहार आचरण नियमों का उल्लंघन हो सकता है. जिसके चलते उन्हें निलंबित कर दिया गया. उन्होंने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए कड़ी मेहनत की होगी. उनका परिवार उन पर निर्भर होगा. ऐसे में उनका निलंबन उन्हें मुश्किल में डाल सकता है.'

नव निर्वाचित मुख्यमंत्री ने कहा, 'उनका निलंबन नियमों के अनुसार उचित है, लेकिन व्यक्तिगत स्तर पर मैं उन्हें माफ करना चाहता हूं और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करना चाहता. एक शिक्षक का काम छात्रों को अच्छी शिक्षा देना है. मुझे उम्मीद है कि वह भविष्य में अपने कर्तव्यों पर ध्यान केंद्रित करेंगे.'

सीएम ने शनिवार को एक संदेश में कहा कि उन्होंने जबलपुर जिला प्रशासन को तत्काल निलंबन खत्म करने का निर्देश दिया है. सीएम कमलनाथ ने कहा, 'उन्हें इस बात पर चिंतन करना चाहिए कि क्या उन्होंने लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित सीएम के बारे में जो कहा है क्या वह वाकई में सच है.'