आयकर विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अनिल गोयल के उत्तराखंड और हरियाणा में फैले 13 व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर छापा मारा. शनिवार को आयकर विभाग के अधिकारियों ने इसकी जानकारी दी.

आयकर विभाग के जांच आयुक्त अमरेंद्र कुमार ने बताया कि देहरादून में क्वालिटी हार्डवेयर, उमंग साड़ीज ( और एलेक्सिया पैनल्स के अलावा रुड़की में क्वांटम यूनिवर्सिटी और हरियाणा के यमुनानगर में पंजाब प्लाईवुड इंडस्ट्रीज सहित गोयल की कई संपत्ति पर छापा मारा गया.

बिक्री की जानकारी छिपाने, बेहिसाब पर्चियां और बेहिसाब निवेश के आरोप में गोयल व उनके परिवार से संबंधित 13 प्रतिष्ठानों पर छापे मारे गए. उन्होंने बताया कि छापेमारी के दौरान मिले दस्तावेजों की जांच की जा रही है. अनिल गोयल ने साल 2016 में बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर राज्यसभा का चुनाव लड़ा था. वो उत्तराखंड बीजेपी के उपाध्यक्ष भी रह चुके हैं.  इनकम टैक्स विभाग  की छापेमारी के बाद अनिल गोयल फरार हो गए थे, लेकिन उनको ट्रेस किया गया और फिर देेहरादून लाया गया. फिलहाल उनसे इस मामले में पूछताछ हो रही है.

बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं का करीबी समझे जाने के कारण वो हाल में राज्य में हुए नगर निगम चुनाव में देहरादून के महापौर सीट के लिए टिकट के दावेदार थे. इस मामले को लेकर जब उनसे संपर्क किया गया, तो प्रदेश बीजेपी मीडिया प्रभारी देवेंद्र भसीन ने बताया कि इस वक्त पार्टी के संगठनात्मक ढांचे में गोयल के पास कोई पद नहीं है.