भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने शनिवार को सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर खेले गए पहले वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथों मिली 34 रनों की हार के लिए मेहमान टीम की खराब बल्लेबाजी को जिम्मेदार ठहराया है. 289 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए तीन विकेट तभी गंवा दिए जब बोर्ड पर केवल चार रन टंगे थे. शिखर धवन और अंबाती रायुडू बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए थे जबकि विराट कोहली ने भी केवल दो रन का योगदान दिया था.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार कोहली ने मैच के बाद प्रेजेंटेशन के दौरान कहा, ‘हम जिस तरह से खेले उससे हम खुश नहीं हैं. हमने गेंद से अच्छा प्रदर्शन किया. इस विकेट पर 300 से ज्यादा का स्कोर बनना था, लेकिन हमने उन्हें यहां तक नहीं पहुंचने दिया. हमें लगा था कि 288 हासिल करने वाला लक्ष्य है. शुरुआत में तीन विकेट खोना किसी भी लिहाज से अच्छा नहीं होता.’

कोहली ने शतक लगाने वाले रोहित शर्मा की प्रशंसा की. इसके अलावा रोहित शर्मा के साथ शतकीय साझेदारी करने वाले महेंद्र सिंह धोनी की पारी की भी तारीफ की. दोनों के बीच चौथे विकेट पर 137 रन की साझेदारी हुई. रोहित ने 133 रनों की पारी खेली तो वहीं धोनी ने 51 रन बनाए. कोहली ने कहा, ‘रोहित ने शानदार पारी खेली और धोनी ने उनका अच्छा साथ दिया, लेकिन मुझे लगता है कि जिस तरह का मैच का मिजाज था उसमें हम और अच्छा कर सकते थे. दोनों ने मैच को रोमांचक बनाया दिया था. लेकिन धोनी उसी मोड़ पर आउट हो गए जिससे रोहित पर दबाव आ गया. एक और अच्छी साझेदारी होती तो मैच हमारे नाम होता, लेकिन शुरुआत में तीन विकेट गिरना सबसे बड़ी समस्या रही और ऑस्ट्रेलिया ने हमें वहां से वापसी नहीं करने दी.’

30 वर्षीय भारतीय कप्तान ने कहा कि वह पहले मैच में मिली पराजय से हताश नहीं हैं. मुझे लगता है कि ये ऐसा दिन था कि जिस दिन ऑस्ट्रेलिया हमसे बेहतर खेला. इसलिए हमें परिणाम को लेकर चिंतित नहीं होना चाहिए. कोहली ने कहा कि इस तरह के दिन आपको बतौर टीम खेलने के लिए प्रोत्साहित करते हैं.