राजस्थान: विधानसभा चुनाव से पहले किए गए वादों को पूरा करने में राजस्थान की गहलोत सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ना चाहती है. गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ऐलान किया कि राजस्थान में बेरोजगार युवाओं को मार्च महीने से बेरोजगारी भत्ता मिलना शुरू हो जाएगा.

राजस्थान विश्वविद्यालय में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवाओं को प्रति माह 3,000 रुपए व युवतियों को 3,500 रुपए भत्ता मिलेगा. कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में राज्य के बेरोजगार युवाओं को 3,500 रुपए तक बेरोजगारी भत्ता देने का वादा किया था.

बेरोजगार युवाओं को भत्ते के रूप में 600 रुपये देने की शुरुआत भी मुख्यमंत्री रहते हुए मैंने ही की थी जिसे मेनिफेस्टो में बढ़ाकर हमने 3500 किया था, अब 1 मार्च से लड़कों को 3000 और लड़कियों को 3500 रुपये बेरोजगारी भत्ता मिलेगा। #Rajasthan pic.twitter.com/yOE1WGxmFL

— Ashok Gehlot (@ashokgehlot51) January 31, 2019

उन्होंन कहा, ‘एक मार्च से सबको 3,500 रुपए तक का भत्ता मिलेगा. लड़कों को मिलेगा 3,000 रुपए और लड़कियों को मिलेगा 3,500 रुपए.’ गहलोत ने कहा कि उनकी पिछली सरकार ने भी बेरोजगारी भत्ते के रूप में 600 रुपए की आर्थिक प्रोत्साहन राशि देनी शुरू की थी लेकिन अब हमने जन घोषणा पत्र में कहा है 600 रुपए के बजाय 3500 रुपए देंगे.

इससे पहले भी राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार चुनावी घोषणा पत्र में किए गए एक वादे को पूरा कर चुकी है. सरकार बनने के कुछ समय बाद ही मुख्यमंत्री ने किसानों की कर्ज माफी का ऐलान कर दिया था. राजस्थान विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने किसान कर्ज माफी के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया था.