कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने मंगलवार को सीबीआई और केंद्र सरकार के खिलाफ अपना धरना खत्‍म कर दिया था. लेकिन अब उनकी पार्टी प्रदेश के हर जिले में आज (7 फरवरी) से दो दिनी धरना देने जा रही है. तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि ‘लोकतंत्र को बचाने’ तथा संविधान को कुचलने की केंद्र की बीजेपी सरकार की कोशिश को परास्त करने के लिए वह गुरुवार और शुक्रवार को राज्य के सभी जिलों में धरना देगी.

तृणमूल महासचिव और राज्य सरकार के मंत्री पार्थ चटर्जी ने बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि गुरुवार को हर जिला मुख्यालय पर सुबह दस बजे से शाम छह बजे तक धरना दिया जाएगा और शुक्रवार को उप संभागों में ऐसा ही प्रदर्शन होगा.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबीआई को कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ बलपूर्वक कोई कार्रवाई करने से रोके जाने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार शाम को अपना धरना समाप्त कर दिया था. लेकिन उन्‍होंने कहा था कि मोदी सरकार को सत्ता से बाहर करने तक उनकी जंग जारी रहेगी.

सीबीआई द्वारा कुमार से पूछताछ की कोशिश के बाद रविवार शाम को नाटकीय अंदाज में धरने की शुरुआत करने वाली ममता बनर्जी ने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय के “अनुकूल” आदेश के बाद समान विचारों वाले राजनीतिक दलों के नेताओं से परामर्श के बाद अपना धरना खत्म कर रही हैं.

तेदेपा अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के साथ धरना स्थल पर खड़ी ममता ने अपने समर्थकों की भीड़ के समक्ष कहा, “मैं छोड़ूंगी नहीं...मोदी हटाओ, देश बचाओ. यह धरना लोगों की जीत है, देश की जीत है और लोकतंत्र की जीत है. अब मैं यह लड़ाई दिल्ली लेकर जाउंगी.”