नई दिल्लीः  तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) प्रमुख एवं आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू अपने राज्य को विशेष दर्जा दिलाने और राज्य पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत केंद्र द्वारा किए गए वादों को पूरा करने की मांग को लेकर आज दिल्ली में एक दिन का अनशन कर रहे है. आज सुबह अपना अनशन शुरू करने से पहले चंद्रबाबू नायडू ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद चंद्रबाबू नायडू आंध्र प्रदेश भवन पहुंचे और वहां एक दिन की अपनी भूख हड़ताल शुरू की.

Andhra Pradesh CM and Telugu Desam Party chief N Chandrababu Naidu: Today we came here all the way to protest against central govt. Yesterday PM visited Andhra Pradesh, Guntur one day before the dharna. What is the need, I am asking. pic.twitter.com/7DA2NlRYYX

— ANI (@ANI) February 11, 2019

N Chandrababu Naidu: If you wont't fulfill our demands, we know how to get them fulfilled. This is about self respect of people of AP. Whenever there is an attack on our self-respect,we won't tolerate it. I am warning this govt&particularly the PM to stop attacking an individual. pic.twitter.com/OKUF4DQUZf

— ANI (@ANI) February 11, 2019

Chandrababu Naidu begins 'Dharma Porata Deeksha' in Delhi

Read @ANI story | https://t.co/mIsKLfQy0n pic.twitter.com/CC6jkjtsF7

— ANI Digital (@ani_digital) February 11, 2019

नायडू सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक अनशन पर रहेंगे इसके बाद वह राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी सौंपेंगे. मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों, पार्टी के विधायकों, एमएलसी और सांसदों के साथ धरना दे रहे है. राज्य कर्मचारी संघों, सामाजिक संगठनों और छात्र संगठनों के सदस्य भी इसमें शामिल होंगे.

गौरतलब है कि टीडीपी राज्य के बंटवारे के बाद आंध्र प्रदेश से किए गए अन्याय का विरोध करते हुए पिछले साल बीजेपी नीत एनडीए से बाहर हो गई थी.

Delhi: Andhra Pradesh CM and Telugu Desam Party chief N Chandrababu Naidu pays tribute at Rajghat. He is observing a daylong hunger strike here today against the central govt over the issue of special status to Andhra Pradesh. pic.twitter.com/jqlvtwYStn

— ANI (@ANI) February 11, 2019

इससे पहले रविवार को पीएम मोदो ने आंध्र प्रदेश के गुंटूर में रैली करते हुए चंद्रबाबू नायडू पर जमकर हमला किया था.

पीएम मोदी ने मुख्‍यमंत्री चंद्रबाबू नायडू पर हमला बोलते हुए कहा, 'आप हमारे सीनियर हैं, इसलिए आपके सम्‍मान में हमने कोई कमी नहीं छोड़ी. आप सीनियर हैं दल बदलने में, आप सीनियर हैं दूसरी पार्टियों से गठबंधन करने में, आप सीनियर हैं एक चुनाव के बाद दूसरे चुनाव में हारने में और मैं तो उसमें सीनियर हूं नहीं.' उन्‍होंने कहा कि चंद्रबाबू पहले जिसे गाली देते हैं, बाद में उसी की गोद में जा बैठते हैं. वह अपने ससुर (एनटी रामा राव) की पीठ में छुरा घोंपने में सीनियर हैं.

पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में एलपीजी का दिया जाना 1955 में शुरू हुआ. पिछले 65 सालों में सिर्फ 5 करोड़ एलपीजी के नए कनेक्शन दिए गए. हमारी सरकार ने पिछले पांच सालों में ही 16 करोड़ नए कनेक्शन दिए. जिन लोगों ने देश को धुएं में छोड़ दिया था. वो देश में झूठ फैलाने लगे हैं. महामिलावट का असर है कि यहां के मुख्यमंत्री भी मोदी को गाली देने के काम्पटिशन में लग गए हैं.

पीएम मोदी ने 11 फरवरी को दिल्‍ली में होने वाली चंद्रबाबू नायडू की रैली पर भी निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि ये (सीएम नायडू) कल फोटो खिंचवाने के लिए दिल्‍ली जाने वाले हैं, बड़ा हुजूम लेकर जाने वाले हैं, पार्टी का बिगुल बजाने. लेकिन बीजेपी अपने कार्यकर्ताओं के पैसों से कार्यक्रम करा रही है, वो आंध्र की जनता की तिजोरी से पैसा निकाल कर जा रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि टीडीपी के नेता पहले जिस कांग्रेस फ्री इंडिया की बात करते थे, आज उसी कांग्रेस का समर्थन कर रहे हैं. चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश के सनराइज (उदय) का वादा किया था. लेकिन अपने सन (पुत्र) को ही राइज कराने में जुट गए हैं. उन्‍होंने आंध्र के गरीबों के लिए नई योजनाएं चलाने का वादा किया था. लेकिन मोदी की योजनाओं पर अपना स्‍टीकर लगा दिया है.

प्रधानमंत्री ने यहां पेट्रोलियम और गैस से जुड़ी 6,825 करोड़ रुपये की दो परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया. साथ ही पीएम मोदी ने रिमोट कंट्रोल के जरिए नेल्लोर जिले में भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड के एक तटीय टर्मिनल की आधारशिला भी रखी. पीएम ने कहा कि हमारा लक्ष्‍य है कि न्‍यू इंडिया को प्रदूषणरहित आर्थिक ताकत बनाया जाए. अमरावती नए भारत और नए आंध्र प्रदेश का केंद्र बन रहा है. उन्‍होंने कहा कि केंद्र सरकार ने हृदय योजना के तहत अमरावती को हेरीटेज सिटी के रूप में चुना है. उन्‍होंने इस बार लोकसभा चुनाव में पहली बार वोटिंग करने जा रहे लोगों को शुभकामनाएं दीं