तेरे मुस्कराने का असर सेहत पे होता है, लोग पूछ लेते हैं दवा का नाम क्या है। सुबह सवेरे अखबार के दो सीनियर पत्रकारों की सेहत नासाज चल रही है। लिहाजा दोनों के रेगुलर कॉलम में थोड़ा ब्रेक आ गया है। पेले जिक्रे खैर करेंगे अखबार के सीनियर एडिटर अजय बोकिल का। पत्रकार को कुछ महीनों से गले में समस्या थी। जांच में मुंह में गाल के अंदरूनी हिस्से में जहां से लार ग्रंथी जाती है, एक ट्यूमर नजर आया। ये गांठ गंभीर रूप न ले ले लिहाजा डॉक्टरों ने इसकी सर्जरी कर ट्यूमर निकालने का फैसला किया। इंदौर के अरविंदो मेडिकल कॉलेज के बेरियाट्रिक वाले हाईटेक ओटी में अजय बोकिल की सर्जरी की गई। सर्जरी की जगह के पास से ही फेशियल मूवमेंट नर्व गुजरती है। लिहाजा फेसमूवमेंट नार्मल हों इसलिए उन्हें हर दिन फीजियोथेरेपी लेनी पड़ रही है। पत्रकार फिलहाल अस्पताल में ही जेरे इलाज हैं और एहतियातन रेडियोथेरेपी ले रहे हैं। वैसे पूरी जांच में ट्यूमर में कोई गंभीर बीमारी के सिंपटम नहीं निकले हैं। सुबह सवेरे के स्टेट एडिटर गिरीश उपाध्याय भी इन दिनों आराम फरमा रहे हैं। इन्हें हार्ट में संभवत: ब्लॉकेज की समस्या है। इस वजह से घबराहट होती है। फिलहाल गिरीशजी की तबियत सामान्य है। दो महीने बाद उन्होंने दफ्तर आना शुरु ही किया था कि वायरल की चपेट में आ गए। आप दोनों जल्द सेहतयाब हों सूरमा येई दुआ करता है।