नई दिल्लीः संसद भवन के सेंट्रल हॉल में आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के पोर्ट्रेट (आदम कद चित्र) का अनावरण किया गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वाजपेयी के पोर्ट्रेट का अनावरण किया। इस दौरान उप राष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन और विभिन्न दलों के अन्य नेता मौजूद रहे। पीएम मोदी ने वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि व्यक्तिगत जीवन के हित के लिए कभी अपना रास्ता न बदलना अपने आप में सार्वजनिक जीवन में हम जैसे कार्यकर्त्ताओं के लिए अटल जी से यह बहुत कुछ सीखने जैसा है।

Delhi: A portrait of former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee unveiled at the Central Hall of Parliament by President Ram Nath Kovind. pic.twitter.com/kKsFn8e2RP

— ANI (@ANI) February 12, 2019

मोदी ने कहा कि अटल जी का व्यक्तित्व ऐसा था कि बड़ी सहजता से विरोधियों को भी संभाल लेते थे। उल्लेखनीय है कि वाजपेयी का यह पोर्ट्रेट लाइफ साइज का है। वृंदावन के चित्रकार कृष्ण कन्हाई ने इस फोटो को तैयार किया है। संसद भवन के सेंट्रल हॉल में पूर्व प्रधानमंत्री पंडित नेहरू और इंदिरा गांधी के पोर्ट्रेट भी लगे हैं। बता दें कि संसद भवन परिसर में किसी भी नेता या महापुरुष की चित्र या फोटो लगाने पर निर्णय संसद की एक पोर्ट्रेट कमेटी लेती है। लोकसभा अध्यक्ष इस कमेटी का अध्यक्ष होता है साथ ही विपक्षी पार्टियों सहित सत्ताधारी पार्टी के कई सांसद इसके सदस्य होते हैं। इस कमेटी ने ही 18 दिसंबर 2018 को वाजपेयी का लाइफ साइज फोटो लगाने का निर्णय लिया था। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी का 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था।

PM Narendra Modi on unveiling of the portrait of late PM Atal Bihari Vajpayee in Parliament: Atal Ji had a long political career, a large part of that career was spent in opposition. Yet, he continued raising issues of public interest and never ever deviated from his ideology. pic.twitter.com/uQGFBcwTMJ

— ANI (@ANI) February 12, 2019