चाहे आप बैली फैट के शिकार हैं या नहीं हैं, लेकिन आपने अपने आसपास 5 से 2 लोगों को फैट से परेशान देखा होगा। आजकल के खराब खानपान, मील स्किप होना और तनावपूर्ण जीवनशैली के चलते लोग न चाहते हुए भी खासकर बैली फैट के शिकार हो जाते हैं। इसके अलावा जॉब के दौरान 8 से 9 घंटे तक लगातार कुर्सी पर बैठने से भी पेट और जांघों का फैट बढ़ता ही जाता है। आज हम आपको इसे कम करने के लिए कोई लंबा चौड़ा प्लॉन नहीं बल्कि सिर्फ 15 मिनट का एक काम बता रहे हैं। बैली फैट कम करने के लिए बस 15 मिनट ही काफी हैं। इन पंद्रह मिनट की एक्सरसाइज़ से न सिर्फ बेली फैट कम होगा बल्कि आप फिट भी दिख सकेंगी। फिटनेस एक्सपर्ट नीति शर्मा से जानें 8 सिंपल एक्सरसाइज़ के बारे में।

आधुनिक लाइफस्टाइल के कारण जहां हमारा खानपान संतुलित नहीं है, वहीं लगातार सीट पर बैठने के कारण भी स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है। ज़्यादा देर तक बैठे रह जाने से टमी फैट बढऩे लगता है। हालांकि हर स्त्री सुंदर और फिट दिखना चाहती है लेकिन उचित वर्कआउट और समय के अभाव से एक्सरसाइज़ करना मुमकिन नहीं हो पाता। इसलिए सबसे पहले पेट पर चर्बी नज़र आने लगती है। शोध के मुताबि$क, आज लगभग 45 प्रतिशत स्त्रियां टमी फैट की समस्या से ग्रस्त हैं। टमी को सपाट और सुंदर कैसे बनाया जाए।

बायसाइकिल क्रंच
ज़मीन पर पीठ के बल लेट जाएं। अपने हाथों को सिर के पीछे की ओर क्रॉस करें। अब अपने दायें घुटने को ऊपर की ओर चेस्ट के पास लाकर मोड़ें। बायां पैर सीधा रहे। अब शरीर के ऊपरी हिस्से को इस तरह ऊपर उठाएं कि बायीं कोहनी दायें घुटने को टच करे। कुछ सेकंड्स रुकें और फिर दूसरे घुटने और कोहनी से भी ऐसा करें। इसके दोनों ओर से 10-10 सेट कर सकते हैं।

डाउनवर्ड फेसिंग डॉग
पैरों में गैप बनाएं और सीधे खड़े हों। अब शरीर को सामने की ओर इस तरह झुकाएं कि हथेलियां ज़मीन को टच करने लगें। सिर को सीधा और घुटनों के समानांतर रखें। दोनों हथेलियों को थोड़ा इस तरह आगे की ओर ले जाएं कि हिप्स पर वेट पड़े और शरीर डॉग पोज‍िशन में हो, जैसा कि चित्र में दिखाया गया है।

बोट एक्सरसाइज़
मैट पर पैरों को आगे की ओर करते हुए बैठें। अब धड़ वाले हिस्से को थोड़ा सा आगे की ओर बेंड करें। पैरों को धीरे-धीरे ऊपर उठाने की कोशिश करें। दोनों हाथों को सामने की ओर ले जाएं और उनसे पैरों को सपोर्ट दें। इस अवस्था में शरीर वी शेप में दिखेगा। सांस को थोड़ी देर रोकें और फिर पूर्व अवस्था में वापस आ जाएं।

फ्लटर किक्स
ज़मीन पर सीधे लेटें। हथेलियों को शरीर की सीध में स्ट्रेच करें। दोनों पैरों को ऊपर उठाते हुए 45 डिग्री तक लाएं। 10 सेकंड होल्ड करें और फिर नीचे लाएं। बिगनर्स इसमें कंफर्टेबल न हों तो एक-एक पैर से बारी-बारी भी ऐसा कर सकते हैं।

पार्शियल सिट-अप्स
ज़मीन पर सीधा लेटें। घुटनों को चित्र के अनुसार थोड़ा मोड़ लें। अब धड़ वाले हिस्से को जमीन से थोड़ा ऊपर की ओर लाएं और हाथों से घुटनों को छूने का प्रयास करें। हलका सा नीचे की ओर आएं, कुछ सेकंड्स होल्ड करें और फिर से हाथों से घुटनों को छूने वाली प्रक्रिया रिपीट करें।

स्टेबिलिटी बॉल पास
ज़मीन पर मैट बिछाकर पीठ के बल लेटें। पैरों के बीच में एक एक्सरसाइज बॉल रखें और धीरे-धीरे उसे पकड़े हुए ही पैरों को ऊपर की लाने की कोशिश करें। इसी पोज‍िशन में पैरों को दाएं और बाएं की ओर स्ट्रेच करें। ध्यान रखें कि बॉल गिरे नहीं।

अपवर्ड बैक बेंड
पेट के बल लेट जाएं। अब कमर से ऊपर वाले हिस्से को धीरे-धीरे ऊपर की ओर उठाएं। इस क्रम में हाथ हलके से मुड़ेंगे और हथेलियां ज़मीन पर टिकी रहेंगी।इस अवस्था में कुछ सेकंड्स होल्ड करें, वापस पूर्व स्थिति में लौटें। फिर दोहराएं।

प्लैंक
पेट के बल लेट जाएं। अब कोहनियों को ज़मीन पर टिकाएं और पंजों के बल शरीर को धीरे से ऊपर उठाएं। गर्दन सीधी रखें। इस अवस्था में 30-60 मिनट तक रहें। इस प्रक्रिया में शरीर में कंपकंपी हो सकती है, लेकिन सहज ढंग से सांस लें और फिर धीरे-धीरे वापस पूर्व स्थिति में लौटें। लोअर बैक के लिए प्लैंक फायदेमंद है।