कुरुक्षेत्र : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिये अभियान तेज करेगी और दावा किया कि सिर्फ ऐसे लोगों को ही उनसे परेशानी थी जबकि ईमानदारों को ‘चौकीदार’ पर भरोसा है.

प्रधानमंत्री ने यहां ‘स्वच्छ शक्ति 2109’ कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए अभियान के प्रति लोगों से समर्थन मांगा. यह कार्यक्रम इस साल दो अक्टूबर तक देश को खुले में शौच से मुक्त बनाने और स्वच्छता के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्रामीण महिलाओं की भूमिका को रेखांकित करने के मकसद से आयोजित किया गया था.

उन्होंने कहा, “2014 में, आपने एक ईमानदार और पारदर्शी सरकार के लिये मत दिया. बिचौलियों और गरीबों के अधिकार छीनने वालों को सभी व्यवस्थाओं से बाहर कर दिया गया.” उन्होंने कहा, “देश में हर ईमानदार आदमी इस ‘चौकीदार’ पर भरोसा करता है लेकिन जो भ्रष्ट हैं, उन्हें मोदी से परेशानी है.” मोदी ने कहा कि हरियाणा में कुछ लोग अपने खिलाफ जारी जांच एजेंसियों की पड़ताल से परेशान हैं.

उन्होंने किसी का नाम लिये बगैर कहा, “हरियाणा में भी, आप इस बात के गवाह हैं कि कैसे कुछ लोग जांच एजेंसियों की पड़ताल को लेकर परेशान हैं.” हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ राज्य में भूमि सौदों में कथित अनियमितता को लेकर जांच चल रही है. प्रधानमंत्री ने विपक्ष के प्रस्तावित महा-गठबंधन का “महा-मिलावट” के तौर पर उपहास उड़ाते हुए कहा कि इसमें शामिल सभी चेहरे धमकी देने और मोदी को कोसने में शामिल हैं.

उन्होंने कहा, “इस ‘महा-मिलावट’ में शामिल सभी चेहरों में जांच एजेंसियों, अदालतों और मोदी को धमकाने और कोसने की होड़ है.” मोदी ने कहा, “लेकिन आप आश्वस्त रहिये, यह ‘चौकीदार’ उनकी धमकियों और गालियों से न तो डरेगा और न ही उसे धमकाया जा सकता है, वह न रुकेगा और न झुकेगा. इस देश को भ्रष्टों से मुक्त कराने के लिये हमारा ‘सफाई’ अभियान आगे और तेज होगा. इस अभियान के लिये, आपका आशीर्वाद चाहिए.”