मारुति सुजुकी ने भारत में Gypsy के प्रोडक्शन को बंद कर दिया है. Maruti Gypsy की लॉन्चिंग भारत में 1985 में हुई थी और अब करीब 33 सालों के प्रोडक्शन के बाद कंपनी ने आखिरकार इस ऑफ रोड कार को बनाना बंद कर दिया है. Gypsy भारत में मारुति सुजुकी की सबसे पुरानी कारों में से एक है.

Gypsy, Maruti 800 और Omni van के बाद कंपनी की ओर से भारत में बिकने वाली तीसरी कार थी. अब कंपनी ने अपने डीलर्स को एक आधिकारिक स्टेटमेंट जारी कर जानकारी दी है कि Gypsy के सारे वेरिएंट्स के प्रोडक्शन को बंद कर दिया गया है. साथ ही कंपनी ने डीलर्स से ये भी कहा है कि इस SUV के लिए बुकिंग लेना बंद कर दें.   

Maruti Gypsy को कंपनी के लाइनअप से हटाने की वजह आने वाले नियम हैं. इस साल अप्रैल और अक्टूबर के महीने में कुछ नए सुरक्षा संबंधित नियम आने जा रहे हैं. मारुति सुजुकी ने अपनी इस 80 के दशकों वाली एसयूवी में बहुत ही कम बदलाव किए थे. इस SUV का डिजाइन और ओवरऑल स्ट्रक्चर पिछले 33 सालों से एक जैसा ही बना हुआ है. ऐसे में नए सुरक्षा संबंधित नियमों के हिसाब से कंपनी को फिर से इस कार को डिजाइन करने की जरूरत पड़ेगी.

साथ ही प्रोडक्शन की दर भी काफी घट गई थी. ऐसे में कंपनी द्वारा इस कार में इन्वेस्टमेंट किया जाना महंगा साबित हो सकता था. ऐसे में कंपनी ने अपनी इस SUV को पूरी तरह से बंद करने का निर्णय कर लिया. ये SUV सेना को भी काफी पसंद रही है. सेना की ओर से इस कार के लिए आखिरी ऑर्डर 2015 में किया गया था.

Maruti Gypsy की लॉन्चिंग सिंगल पेट्रोल इंजन ऑप्शन में की गई थी. इसे 1.0-लीटर फोर-सिलिंडर इंजन के साथ उतारा गया था. इस इंजन के साथ फोर-स्पीड ट्रांसमिशन का ऑप्शन दिया गया था. हालांकि बाद में इसे अपग्रेड कर बड़ा 1.3-लीटर इंजन उतारा गया था. इसके साथ 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया था.