नई दिल्‍ली : वर्जिन अटलांटिक एयरलाइन ने अपनी महिला केबिन क्रू को मेकअप के बिना काम करने की अनुमति दे दी है. कंपनी ने इसकी घोषणा की है. इसके साथ ही मानक विकल्‍प के रूप में उन्‍हें रेड यूनिफॉर्म में ट्राउजर पहनने की इजाजत दी गई है.

हालांकि पहले उन्‍हें ट्राउजर्स पहनने की अनुमति दी गई थी, लेकिन इस बाबत एयरलाइन के यूनिफॉर्म डिपॉटमेंट से विशेष रूप से आदेश दिया जाना बाकी था.  एयरलाइन ने अपने एक बयान में कहा कि नई गाइडलाइन से न केवल महिला क्रबिन क्रू का कंफर्ट लेवल बढ़ेगा, बल्कि इससे हमारी टीम को और अधिक विकल्‍प मिलेंगे कि वे कैसे काम पर खुद को व्यक्त करना चाहते हैं."

इसके साथ ही कंपनी की तरफ से कहा गया कि महिला केबिन क्रू को अब कोई मेकअप करने की आवश्‍यकता नहीं होगी, अगर वे ऐसा चुनते हैं. हालांकि, वे अभी भी वर्जिन अटलांटिक के दिशा-निर्देशों में हमारे मेकअप के किसी भी मौजूदा पैलेट (लिपस्टिक और फाउंडेशन सहित) को लगाते हैं, तो कंपनी उनके इस फैसले का बहुत स्वागत करती हैं."

कंपनी ने कहा कि सभी महिला केबिन क्रू के लिए विकल्‍प के रूप में ट्राउजर उपलब्‍ध है और उन्‍हें वर्जिन अटलांटिक में शामिल होने पर मानक के रूप में इसे प्रदान किया जाएगा. यह बदलाव कंपनी को अपने कर्मचारियों से मिले फीडबैक के बाद किए गए हैं और ऐसा कुछ नई प्रतियोगी कंपनियों द्वारा अपने केबिन क्रू के पारंपरिक वर्दी नियमों को शिथिल करने की वजह से हुआ है.

ब्रिटिश एयरवेज और अमीरात जैसी कई एयरलाइनों में अभी भी काम करते समय महिला केबिन क्रू को मेकअप करने की आवश्यकता होती है. हालांकि 2016 में ब्रिटिश एयरवेज ने अपना नियम हटा दिया था कि महिलाएं पतलून नहीं पहन सकती.