कश्मीरियों पर हमले के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सख्त रुख अख्तियार किया है. शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने साफ शब्दों में कहा कि देश में एकता का वातावरण बनाए रखना बेहद अहम है. लखनऊ में कुछ सिरफिरे लोगों ने कश्मीरी भाइयों के साथ हरकत की, तो सूबे की योगी सरकार ने फौरन कार्रवाई की.

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, 'मैं अन्य राज्य सरकारों से भी अपील करूंगा कि जहां भी कश्मीरियों के साथ कोई हरकत करने की कोशिश करे, तो उस पर कठोर कार्रवाई की जाए.' इसके अलावा राजस्थान में रैली को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृहराज्य मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर कोई कश्मीरी छात्रों को तंग करता है, तो बीजेपी कार्यकर्ताओं की यह जिम्मेदारी है कि वो उनके साथ खड़े हों.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री सिंह का ये बयान उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में दो कश्मीरी युवकों पर हुए हमले के मद्देनजर सामने आया है. हाल ही में लखनऊ में सड़क किनारे ड्राई फ्रूट्स बेच रहे दो कश्मीरी युवकों को दक्षिण पंथी संगठन के लोगों ने पीटा था. साथ ही उनकी दुकान को उजाड़ दिया था. स्थानीय लोगों ने इन कश्मीरी युवकों को हमलावरों से बचाया था. हमलावर विश्व हिंदू दल के सदस्य बताए जा रहे हैं. वो भगवा कपड़ों में पहुंचे थे और कश्मीरी युवकों को पत्थरबाज कहकर पीटने लगे थे.

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ था, जिसके बाद यूपी पुलिस ने फौरन कार्रवाई की थी. साथ ही कश्मीरी युवकों से मारपीट करने के आरोप में 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था. गिरफ्तार किए गए आरोपी विश्व हिंदू दल के सदस्य बताए जा रहे हैं. पीएम मोदी से पहले जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती ने कश्मीरी युवकों पर हमले की कड़ी निंदा की थी.

कानपुर में रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर की गई एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने वालों पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'पुलवामा हमले के बाद हमारे वीरों ने जो पराक्रम दिखाया, वो देश ने देखा है, लेकिन बहुत दुखद है कि हमारे घर में ही सेना के पराक्रम को नीचा दिखाने का लगातार प्रयास किया जा रहा है. पाकिस्तान को पसंद आएं, ऐसी बातें कही जा रही हैं.'

उन्होंने सवाल किया कि आज जब पाकिस्तान पर पूरी दुनिया का दबाव है, तो ऐसे समय में पाकिस्तान की मदद करने वाले बयान क्यों दिए जा रहे हैं? क्या उनको ऐसा करना शोभा देता है? मत भूलिए, आपके बयानों को आधार बनाकर पाकिस्तान दुनिया में भ्रम फैला रहा है. सीमापार आतंकवाद के खिलाफ निर्णायक लड़ाई के बीच आतंकी बौखलाए हुए हैं. इसी का परिणाम है कि जम्मू में फिर आतंकी हमला हुआ है. जिस प्रकार हमारी सरकार सख्त कार्रवाई कर रही है, वो और बौखलाएंगे. हमें सतर्क रहते हुए राष्ट्र के प्रति अपने दायित्वों को निभाने की जरूरत है.

इस दौरान पीएम मोदी ने अपने कार्यकाल के दौरान किए गए विकास कार्यों को भी गिनाया. उन्होंने कहा, 'सौभाग्य योजना के तहत अब तक यूपी में 76 लाख से ज्यादा लोगों को बिजली का कनेक्शन मुफ्त दिया गया है. सिर्फ कानपुर क्षेत्र की ही बात करूं तो डेढ़ लाख से ज्यादा घरों को बिजली कनेक्शन देकर लोगों के जीवन से अंधेरा दूर किया गया है.'

गंगा की सफाई को लेकर पीएम मोदी ने कहा, 'कानपुर में गंगा की जो स्थिति को देखकर लोग कहते थे कि स्थिति को बदल पाना नामुमकिन है, लेकिन हमारी सरकार ने ये विश्वास दिलाया है कि नामुमकिन अब मुमकिन है. गंगा में जो गंदगी नालों के माध्यम से बह रही थी, उसको बंद करने और नालों के पानी को ट्रीट करने का अभियान चलाया है. एशिया के सबसे बड़े नालों में से एक सीसामऊ नाले के गंदे पानी को सीधे गंगा में जाने से रोकने का काम पूरा हो गया है. जाजमऊ टेनरी के पानी को ट्रीट करने का काम भी आज से शुरु हो रहा है.'

उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार ने नमामि गंगे अभियान के तहत यहां के चमड़ा उद्योग के लिए भी एक विशेष योजना बनाई है. इस योजना के तहत आज चमड़ा उद्योगों से निकलने वाले पानी को साफ करने के लिए बहुत बड़े प्लांट की आधारशिला रखी गई है. इससे हर दिन 2 करोड़ लीटर गंदा पानी गंगा में जाने से रुकेगा. पूरे यूपी में सड़कों, हाईवे, एक्सप्रेसवे, रेलवे, एयरवे का जाल बिछाया जा रहा है. कानपुर मेट्रो समेत यूपी में अनेक मेट्रो प्रोजेक्ट्स को केंद्र सरकार मंज़ूरी दे चुकी है.'