आम आदमी पार्टी (AAP) ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के मुद्दे पर आगामी लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है. इस मसले पर हो रही सियासी बयानबाजी के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी पर कड़ा प्रहार किया है. केजरीवाल ने मनोज तिवारी को संबोधित करते हुए कहा कि तुम होते कौन हो, तुम्हारे बाप की दिल्ली है?

दिल्ली में एक जनसभा के दौरान अरविंद केजरीवाल ने कहा कि गुजरात, आंध्र, बिहार सब जगह मुख्यमंत्रियों ने धरना दिया, इन राज्यों को भी आधा बना दो. इससे आगे उन्होंने मनोज तिवारी को संबोधित करते हुए कहा, 'तुम होते कौन हो दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने वाले. तुम्हारे बाप की दिल्ली है? मनोज तिवारी कौन होता है, दिल्ली को पूर्ण राज्य देने वाला?' केजरीवाल ने साथ ही ये भी कहा कि मनोज तिवारी के पिता जी ने धरना नहीं दिया था.

बता दें कि हाल ही में मनोज तिवारी ने कहा था कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा नहीं दिया जाना चाहिए, क्योंकि ऐसा होने से देश के संघीय ढांचे के लिए खतरा साबित हो सकता है.

बीजेपी का घोषणा पत्र जलाया
अरविंद केजरीवाल ने जनसभा में आम आदमी पार्टी नेताओं के साथ मिलकर 2014 के बीजेपी के मेनिफेस्टो की कॉपी जलाई. अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि 2014 बीजेपी के घोषणा पत्र की पहली लाइन है कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाया जाएगा. इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने बयानों में सातों सीट जिताने पर दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा किया था. केजरीवाल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के साथ धोखा किया है, लेकिन 70 साल से दिल्ली का जो अपमान किया जा रहा है वह अब दिल्ली नहीं सहेगी और अपना हक छीनकर रहेगी.

दिलाई वाजपेयी और मदनलाल खुराना की याद
अरविंद केजरीवाल ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री मदनलाल खुराना (दोनों बीजेपी नेताओं का देहांत हो चुका है) का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, 'मदनलाल खुराना जी की आत्मा आसमान से देख रही होगी तो आंसू बहा रही होगी कि आज उनका बेटा (हरीश खुराना) इस तरह से अपने बाप के साथ गद्दारी कर रहा है.'

अरविंद केजरीवाल यहीं नहीं रुके और उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का भी उदाहरण दिया. उन्होंने कहा, 'वाजपेयी जी दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने के लिए संसद में बिल लाए थे. नरेंद्र मोदी जी अगर आप वाकई वाजपेयी जी का सम्मान करते हो तो यह दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाकर दिखाओ, वरना उनकी अस्थियों के साथ राजनीति करना बंद करो.'

अपने बयान के आखिर में केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाकर रहेंगे. दिल्ली को उसका हक दिलाने के लिए मेरी जान भी चली जाए तो हाजिर है. यह आंदोलन है और जब तक पूर्ण राज्य का दर्जा दिल्ली को नहीं मिल जाता यह आंदोलन जारी रहेगा.