मुरैना में घर में मीट पकाने से इंकार करने पर लोक निर्माण विभाग के एक अनुविभागीय अधिकारी ने अपने नौकर को पालतू कुत्ते से कटवाया, जिससे उसकी मौत हो गई. पुलिस ने नौकर की हत्या करने के आरोप में अधिकारी और उसके चालक के खिलाफ मामला दर्ज किया है. फिलहाल दोनों आरोपी फरार हैं.

कोतवाली पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक अतुल सिंह ने बुधवार को बताया कि अदालत के आदेश पर मंगलवार (12 मार्च) को लोक निर्माण विभाग के अनुविभागीय अधिकारी (सहायत यंत्री) आर के मरमटव और उसके चालक प्रीतम उमरिया के खिलाफ हत्या और सबूत नष्ट करने का मामला दर्ज किया गया है. फिलहाल दोनों आरोपी फरार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है.

सिंह ने बताया कि मरमटव ने छह अगस्त 2016 को अपने घर में काम कर रहे नौकर हरजीत सिह कुशवाह को मीट बनाने से इंकार करने पर गुस्से में आकर अपने पालतू कुत्ते से कटवा दिया. गंभीर रुप से घायल होने पर एसडीओ ने चालक के जरिये उसे निजी अस्पताल में भर्ती तो कराया लेकिन डॉक्टर से वास्तविक बीमारी को छिपाकर इलाज कराया. जब इलाज के दौरान कुशवाह की मौत हो गई तो एसडीओ ने कुशवाह के परिवार वालों की मर्जी के बगैर पोस्टमार्टम कराये बिना ही उसकी अंत्येष्टि करा दी.

उन्होंने बताया कि इसके बाद कुशवाह की पत्नी ने मुरैना की अदालत में अगस्त 2016 में शिकायत दर्जकर मामले में न्याय की गुहार की. याचिका पर अदालत ने एसडीओ और उसके चालक के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश पुलिस को दिया. सिंह ने बताया कि मामला दर्ज होने के बाद एसडीओ और उसका चालक घर से फरार हो गये हैं. पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है.