भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 5 मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला दिल्ली के फिरोज शाह कोटला स्टेडियम में खेला जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया ने टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया और 9 विकेट गंवाकर भारत को 273 रनों का लक्ष्य दिया है। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से सबसे ज्यादा स्कोर उस्मान ख्वाजा (100) ने बनाए और इसी के साथ ही उन्होंने वनडे करियर का दूसरा शतक भी लगाया।

ऑस्ट्रेलिया की पारी
रविंद्र जडेजा ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान आरोन फिंच को 15वें ओवर की तीसरी गेंद पर आउट कर पवेलियन भेजा। फिंच 43 गेंदों पर महज 27 रन ही बना पाए। फिंच के बाद दूसरी सफलता भारत के हाथ उसमान ख्वाजा (106 गेंदों पर 100 रन) के रूप में लगी। भुवनेश्वर कुमान के 33वें ओवर की आखिरी गेंद पर ख्वाजा कोहली को कैच दे बैठे और आउट हो गए। इसके बाद ग्लैन मैक्सवेल भी ज्यादा देर तक क्रीज पर टिके नहीं रह पाए और 3 गेंदों पर एक रन बनाकर आउट हो गए। मैक्सवेल 34वें ओवर की 5वीं गेंद पर विराट कोहली को कैच दे बैठे, इस दौरान जडेजा बाॅलिंग कर रहे थे। मैक्सवेल के बाद अगला नम्बर हैंड्सकॉम्ब का लगा। हालांकि इस बार भी हैंड्सकॉम्ब अर्धशतक बनाने में कामयाब रहे। हैंड्सकॉम्ब शमी की गेंद पर 36.2 ओवर में पंत के हाथों कैच आउट होकर पवेलियन लौटे।

पिछले मैच में ऑस्ट्रेलिया को जीत दिलाने वाले एश्टन टर्नर का बल्ला इस बार खासा कमाल नहीं दिखा पाया और वह 20 गेंदों पर 20 रन बनाकर कुलदीप की गेंद (42वें ओवर की दूसरी गेंद) पर जडेजा के हाथों आउट हो गए। आस्ट्रेलिया का छठा विकेट भुवनेश्वर ने उड़ाया। भुवी द्वारा 45वें ओवर की दूसरी गेंद स्टोइनिस के बल्ले से लगते हुए विकटों से जा टकराई और वह 20 रन बनाकर वापस लौट गए। कैरी (3 रन) शमी की गेंद (46वें ओवर की पांचवीं गेंद) पर पंत को कैच देकर पवेलियन लोटे। पैट कमिंस 15 रन बनाकर भुवी की गेंद पर (48.3) भुवी को ही कैच दे बैठे जबकि झेय रिचर्डसन आखिरी गेंद पर 29 रन  बनाते हुए रनआउट हो गए।

भारतीय गेंदबाज
भारतीय गेंदबाजों की बात करें तो सबसे ज्यादा विकेट भुवनेश्वर कुमार (3) ने झटके जबकि शमी और जडेजा 2-2 विकेट लेने में कामयाब रहे। इसके अलावा कुलदीप यादव ने एक विकेट लिया। बुमराह विकेट लेने में तो कामयाब नहीं हो पाए लेकिन उनकी गेंदों पर बल्लेबाज डरते हुए नजर आए और उन्हें 10 ओवर में सबसे कम 39 रन ही पड़े।

प्लेइंग इलेवन में किए गए बदलाव
टीम इंडिया ने इस बार प्लेइंग इलेवन में 2 बदलाव किए है। चहल की जगह जडेजा, राहुल की जगह शमी को टीम में मौका दिया है। वही, ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीम में भी 2 बदलाव करते हुए शॉन मार्श और जेसन बेहरनडोर्फ की जगह क्रमशः मार्कस स्टोइनिस व नाथन लियोन को जगह दी है।

दिल्ली में सिर्फ एक ही मैच जीत पाया है ऑस्ट्रेलिया
फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में भारत और आस्ट्रेलिया के बीच 1986 से 2009 के बीच 4 मैच खेले गए। इसमें से तीन मैचों में भारत ने जीत दर्ज की है जबकि एक मैच में ऑस्ट्रेलिया के हाथ सफलता लगी। आंकड़े इस प्रकार हैं -

पहला मैच, 2 अक्तूबर 1986 - भारत की जीत
दूसरा मुकाबला, 22 अक्तूबर 1987 - फिर से भारत जीता
तीसरा मैच, 14 अप्रेल  14 1998 - इस बार आस्ट्रेलिया को मिली जीत
चौथा मुकाबला, 31 अक्तूबर 2009 - एक बार फिर भारत को मिली सफलता

फिरोजशाह में बोलता है कोहली का बल्ला
जहां इस मैच से लोगों को विराट कोहली से काफी उम्मीदें हैं। वहीं, उनका हाईएस्ट और ओवरआल स्कोर भी कम नहीं है। उन्होंने इस स्टेडियम में 6 मैच खेले हैं जिस दौरान उन्होंने 202 रन बनाए। उनका हाईएस्ट कोर 112 रहा है। महेंद्र सिंह धोनी इस स्टेडियम में सबसे ज्यादा स्कोर (260) बनाने वाले तीसरे खिलाड़ी हैं लेकिन उनका हाईएस्ट स्कोर 71 ही रहा है। फिलहाल उन्हें रेस्ट दी गई है।

रविंद्र जडेजा ने इस मैदान में 5 मैचों में हिस्सा लिया जिसमें 4 बार उन्हें बाॅलिंग करने का मौका मिला। उन्होंने 35 ओवरों तक गेंदबाजी की और इस दौरान उन्होंने 7 विकेट उड़ाए हैं जबकि उन्हें 142 रन पड़े। जाहिर तौर पर वह ऑस्ट्रेलिया पर भारी पड़ सकते हैं। इनता ही नहीं मोहाली और रांची के मुकाबले ये पिच स्पिनरों के लिए अनुकूल मानी जाती है। ऐसे में इस पिच पर बल्लेबाजों के लिए स्कोर बनाना एक कड़ी परीक्षा होगी।

भारत: रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली (सी), ऋषभ पंत (डब्ल्यू), केदार जाधव, विजय शंकर, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह

ऑस्ट्रेलिया: आरोन फिंच (सी), उस्मान ख्वाजा, पीटर हैंड्सकॉम्ब, मार्कस स्टोइनिस, ग्लेन मैक्सवेल, एश्टन टर्नर, एलेक्स केरी (डब्ल्यू), झे रिचर्डसन, पैट कमिंस, एडम ज़म्पा, नाथन लियोन