नई दिल्लीः भारत और पाकिस्तान करतारपुर गलियारा बनाने के लिए तौर-तरीकों को अंतिम रूप के लिए दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच वार्ता शुरू हो गई है. दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच यह वार्ता अमृतसर के समीप अटारी में हो रही है. पाकिस्तान में स्थित ऐतिहासिक करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में भारतीय श्रद्धालुओं को दर्शन करने में सक्षम बनाने वाले करतारपुर गलियारे के तौर-तरीकों को अंतिम रूप देने के लिए यह उनकी पहली बैठक है.

Pakistan: Pakistani delegation at the Wagah Border. Pakistani and Indian delegations will hold discussions over #KartarpurCorridor, on the Indian side today. pic.twitter.com/sGaKERTiuW

— ANI (@ANI) March 14, 2019

Punjab: Indian delegation arrives at the integrated check post at Attari-Wagah Border. They will be meeting delegation from Pakistan for discussions over #KartarpurCorridor today. pic.twitter.com/oegF4f9Wrw

— ANI (@ANI) March 14, 2019

दोनों देशों के बीच बढ़े तनाव के बीच यह बैठक होने जा रही है. बैठक में समर्पित गलियारे को स्थापित करने के लिए मसौदा समझौते पर चर्चा होगी. यह समझौता श्रद्धालुओं को भारत से पाकिस्तान में स्थित सिख मंदिर की बिना वीजा के यात्रा करने की इजाजत देगा. दोनों पक्ष परियोजना की मार्गरेखा पर तकनीकी स्तरीय चर्चा भी करेंगे.

14 फरवरी को पुलवामा आतंकी हमले के एक महीने बाद यह बैठक हो रही है. इस हमले से भारत-पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया था. हाल ही में मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने करतारपुर गलियारे का निर्माण शीघ्र शुरू करने के गृह मंत्रालय के फैसले का स्वागत किया था. उन्होंने कहा था कि वह श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट व वीजा मुक्त 'खुला दर्शन' चाहते हैं.