लखनऊ: यूपी सरकार के दो साल पूरे होने के मौके पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमारी सरकार आज अपने दो वर्ष के कार्यकाल के रिपोर्ट कार्ड के साथ जनता के समक्ष उपस्थित हैं. उन्‍होंने कहा कि प्रदेश की 23 करोड़ जनता का अभिनन्दन करते हैं जिनके सकारात्मक सहयोग से हम उत्तर प्रदेश को अग्रणी श्रेणी में लाने की कोशिश में सफल हुए हैं.

पूर्ववर्ती सपा-बसपा सरकारों पर हमला बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि 1990 के बाद से जो सपा और बसपा के शासन काल में व्यापक लूटपाट और घोटालों का लंबा दौर चला. उनके कार्यकाल में भी यूपी विकास में पिछड़ गया. राज्य में अराजकता का माहौल पैदा हो गया था, अपराधियों का राज कायम होने से कानून व्यवस्था के बदतर हालात थे और किसान आत्महत्या करने पर मजबूर थे. किसान पिछली सरकार की नीतियों के तहत आत्महत्या के लिए मजबूर था. गन्ना मूल्य का बड़ा बकाया था. MSP घोषित होती थी, लेकिन लागू नही हो पाती थी.

सीएम योगी ने कहा कि ऐसे चुनौतीपूर्ण हालात में 19 मार्च 2017 को हमें प्रदेश की सेवा का मौका मिला. अपने प्रयासों से यूपी की बदहाल तस्वीर को बदलने में हम कामयाब हुए हैं. इससे पहले सूबे में सांप्रदायिक हिंसा का लंबा सिलसिला चला. कैराना और कांधला में हिन्दुओं का पलायन रुका है. लोग वापस अपने घर लौटे रहे हैं. हमारी सरकार में 2 वर्ष में एक भी दंगा नहीं हुआ है.

सीएम योगी ने कहा कि इन दो वर्षों में फिरौती के लिये अपहरण की एक भी घटना नहीं हुई है. निवेश के लिए यूपी में बेहतर माहौल है. 2 साल में डेढ़ लाख करोड़ का निवेश यूपी में हुआ है. पिछले 10 साल में जितना निवेश नहीं हुआ, दो साल में हमारी सरकार में उससे दो गुना निवेश हुआ है.

सीएम योगी ने कहा कि 15 लाख युवाओं को रोजगार देने का काम हमारी सरकार ने किया है. यूपी में पहली बार 24 जनवरी को यूपी स्थापना दिवस मनाया. 68 साल बाद यूपी स्थापना दिवस मनाया गया.