नई दिल्ली: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) नीरव मोदी की 173 पेंटिंग और 11 गाड़ियों को बेचेगा. ईडी ने मुंबई में एक विशेष अदालत से इसके लिए अनुमति हासिल कर ली है. अधिकारियों ने बताया कि उसी अदालत ने नीरव मोदी की पत्नी एमी के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया. ईडी ने दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाले में उनकी भूमिका को रेखांकित करते हुए हाल में एक पूरक आरोपपत्र दाखिल किया था. ईडी नीरव मोदी की 173 पेंटिंग और 11 वाहनों को बेचेगा. पेंटिंग की कीमत 57.72 करोड़ रूपये आंकी गयी है. रॉल्स रॉयस, पोर्च, मर्सिडीज और टोयोटा फोर्च्युनर जैसी महंगी गाड़ियों को बेचा जाएगा.

अधिकारियों ने बताया कि इस महीने नीलामी का आयोजन होगा. उन्होंने बताया कि अदालत ने भगोड़े कारोबारी के खिलाफ जांच के तहत आयकर विभाग को उसके द्वारा जब्त अन्य 68 पेंटिंग को भी बेचने की अनुमति प्रदान कर दी. स्कॉटलैंड यार्ड ने बुधवार को लंदन के होलबोर्न इलाके से नीरव मोदी को गिरफ्तार किया. नीरव की वेस्‍टमिंस्‍टर कोर्ट में पेशी हुई, जहां उसके प्रत्‍यर्पण से संबंधित कार्यवाही पर सुनवाई होगी.

यहां प्रत्‍यर्पण की प्रकिया पूरी होने के बाद नीरव मोदी को भारत लाया जाएगा. नीरव की गिरफ्तारी के बाद पंजाब नेशनल बैंक के शेयर्स में तीन प्रतिशत की उछाल देखी गई. इसे भ्रष्‍टाचार के विरुद्ध मोदी सरकार की बड़ी कार्रवाई के रूप में देखा जा रहा है. इससे पहले बीते सोमवार को ही लंदन की अदालत ने दो अरब डॉलर के पीएनबी घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी के खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया था. धनशोधन के एक मामले में नीरव को प्रत्यर्पित करने के प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अनुरोध के जवाब में उसके खिलाफ गिरफ्तारी वॉरंट जारी किया गया था.