नई दिल्ली : कारोबारी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई राबर्ट वाड्रा ने धनशोधन मामले में उच्च न्यायालय का रूख किया है। उन्होंने कोर्ट से अपने खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से दर्ज की गई प्राथमिकी रद्द करने की मांग की है।

वाड्रा ने धनशोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) 2002 के विभिन्न प्रावधानों को असंवैधानिक घोषित करने की भी मांग की है। उनकी इस अर्जी पर 25 मार्च को सुनवाई होनी है। दरअसल जांच एजेंसी इस मामले में वाड्रा से पूछताछ कर चुकी है।

दिल्ली की एक अदालत ने मंगलवार को धनशोधन मामले में वाड्रा को गिरफ्तारी से मिले अंतरिम संरक्षण की अवधि 25 तक बढ़ा दी थी। ईडी का मामला लंदन के 12, ब्रायंस्टन स्क्वायर स्थित 19 लाख पौंड की एक संपत्ति की खरीद में धनशोधन के आरोपों से जुड़ा है। यह संपत्ति कथित तौर पर वाड्रा की है।