क्राइस्टचर्चः न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने सोशल मीडिया के खतरे से निपटने के लिए बुधवार को वैश्विक स्तर पर कदम उठाए जाने की अपील की। दो मस्जिदों में गोलीबारी की घटना के पांच दिन बाद मुस्लिम समुदाय ने हमले में जान गंवाने वाले अपने लोगों के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू की। इस गोलीबारी में 50 लोग मारे गए थे।

हमलावर ने गोलीबारी की घटना का लाइवस्ट्रीम किया था। फेसबुक ने कहा है कि इसे 200 से कम बार ही देखा गया लेकिन उसे इस नरसंहार के फुटेज के तौर पर वायरल हुए करीब 15 लाख वीडियो हटाने पड़े। अर्डर्न ने कहा कि उनका फोकस न्यूजीलैंड के लोगों पर है लेकिन इस विषय पर साथ मिलकर दुनिया के नेताओं को काम करने की जरूरत है ।

उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर हम जिन मुद्दों का सामना करते हैं उनसे हम महज सामान्य तरीके से निपट नहीं सकते। वैश्विक मुद्दे पर एकजुट होकर लडऩे की जरूरत है । उन्होंने कहा कि यह केवल न्यूजीलैंड का मुद्दा नहीं है, सोशल मीडिया के मंच का इस्तेमाल हिंसा और हिंसा को भड़काने वाली चीजों के प्रसार के लिए किया जा रहा है।