बार्ले यानी जौ दुनिया के सबसे पुराने अनाजों में से एक है। इस अनाज को आमतौर पर इस्तेमाल नहीं किया जाता, लेकिन पूजा-अर्चना और स्किन के लिए यह काफी अहमियत रखता है। इसमें फाइबर भरपूर मात्रा में होता है साथ ही इसमें मौजूद लेक्टिक एसिड, सैलिसिलिक एसिड, पोटेशियम और कैल्शियम शरीर को कई बीमारियों से दूर रखते हैं। अगर आप अपनी रोजाना डाइट में इसे शामिल करेंगे, तो आपको कई फायदे मिल सकते हैं। जौ का पानी डायबिटीज व पथरी जैसी कई समस्याओं को दूर करने में भी मददगार है। चलिए आज हम आपको इसके फायदों के बारे में बताते हैं।

पथरी में फायदेमंद जौ का पानी
पथरी की समस्या आम ही सुनने को मिल रही है। इसके लिए जौ का पानी फायदेमंद हैं। जौ को पानी में उबालें और ठंडा करके इसे पीएं। रोजाना इस पानी का सेवन करने से गुर्दे की पथरी घुल कर यूरिन रास्ते बाहर निकल जाएगी।

गर्भपात व कमजोर यूट्रस के लिए
जिन महिलाओं की बच्चेदानी कमजोर होती है, उनके लिए जौ का पानी काफी फायदेमंद होता है। साथ ही में जिन महिलाओं का बार-बार गर्भपात हो जाए उन्हें भी इसका सेवन करना चाहिए। इन महिलाओं को जौ के आटे में घी और ड्राई फ्रूट मिलाकर लड्डू बनाकर खाने चाहिए।

वजन पर रखें कंट्रोल
शरीर से फालतू चर्बी को कम करने के लिए जौ के सत्तू और त्रिफले के काढ़े में शहद मिलाकर पीना भी फायदेमंद होता है। इसके अलावा जिन लोगों का वजन कम है वे जौ को दूध में मिलाकर खीर बनाकर भी खा सकते हैं। इससे उनके शरीर का वजन बढ़ेगा और कमजोरी भी दूर होगी।

डायबिटीज में असरदार
अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो आपके लिए जौ के आटे की रोटी खाना फायदेमंद हो सकता है।

स्किन की रंगत निखारें
त्वचा का सांवलापन दूर करने के लिए 1 मुट्ठी छने हुए जौ के आटे को एक पतले से कपड़े में बांधकर पोटली बना लें और इसे कच्चे दूध में भिगोकर हफ्ते में कम से कम 3 बार नहाते समय शरीर पर रगड़ें।

जले निशान करें दूर
जौ के सत्तू को शऱीर पर मलने से जलन मिट जाती है। अगर शरीर में किसी भी भाग पर जले का निशान है तो जौ को बारीक पीसकर तिल के तेल में मिलाकर लगाने में फायदा मिलेगा।

लू से बचाएं
गर्मियों में शरीर पर टैनिंग हो जाती है। इससे निजात पाने के लिए जौ को पीसकर शरीर पर लेप लगाने से आराम मिलता है। इसके अलावा जौ का सत्तू पीने या खाने से शरीर में ठण़्डक आती है और शरीर काफी हद तक गर्मी सहन कर सकता है।

कब्ज करें दूर
अगर आपको बार-बार गैस हो जाती है तो रोजाना जौ की रोटी का सेवन करें। इससे कब्ज, गैस नहीं बनेगी क्योंकि इसमें फाइबर होता है और यह पचने में भी आसान होता है। एसिडिटी में जौ के पानी में शहद मिलाकर सेवन करने से लाभ होता है।