जया प्रदा पर समाजवादी पार्टी नेता और रामपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार आजम खान के बयान पर विवाद बढ़ता जा रहा है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी आजम की टिप्पणी की आलोचना की है. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों के लिए हमने सरकार बनने के बाद एंटी रोमियो स्क्वायड का गठन किया था.

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आजम खान का बयान समाजवादी पार्टी की सोच को दर्शाता है, इस बयान पर समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव की चुप्पी भी शर्मनाक है. योगी ने आजम खान की तुलना शोहदे (मनचला) से की.

यूपी सीएम ने इस दौरान बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि एक महिला होने के नाते मायावती की चुप्पी यह दर्शाती है कि सत्ता के लिए ये लोग कुछ भी करने और सहने को तैयार हैं.

#Jayaprada जी के ऊपर घटिया और अशोभनीय टिप्पणी #AzamKhan की सोच और व्यक्तित्व को दिखाता है। इस पर @yadavakhilesh जी की चुप्पी शर्मनाक है ही, पर स्वयं एक महिला होते हुए @Mayawati जी का मौन बताता है कि सत्ता के लिए ये लोग कुछ भी करने और सहने को तैयार है।

Shame!

— Chowkidar Yogi Adityanath (@myogiadityanath) April 15, 2019

बता दें कि रामपुर की एक रैली में आजम खान के द्वारा दिया गया बयान लगातार सवालों के घेरे में है. आजम खान को इस पर महिला आयोग का नोटिस पहुंच गया है, तो उनकी हर ओर आलोचना भी हो रहा है. बता दें कि बीजेपी नेता जयाप्रदा ने भी उनपर पलटवार किया है.

जया प्रदा ने किया पलटवार
बीजेपी नेता जया प्रदा ने आजम खान पर पलटवार करते हुए कहा कि क्या उनके घर में मां या बीवी नहीं है, जो इस तरह के बयान दे रहे हैं. साथ ही जया प्रदा ने यह भी कहा कि वह आजम खान की ऐसी टिप्पणियों से डरकर रामपुर छोड़ने वाली नहीं हैं.

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी आजम के बयान की आलोचना की है. उन्होंने ट्वीट कर मुलायम सिंह यादव से इस बयान पर टिप्पणी करने को कहा है और आजम के खिलाफ एक्शन लेने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट में अखिलेश, जया बच्चन और डिंपल यादव को भी टैग करते हुए अपील की. आजम खान के इस बयान पर उनके खिलाफ केस भी दर्ज हो गया है. ये केस रामपुर के मजिस्ट्रेट ने उनके खिलाफ तहरीर दे केस दर्ज कराया है.