पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने सोमवार को कहा कि वह युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत के भारत की विश्व कप टीम से बाहर होने से हैरान हैं. उनका मानना है कि ऋषभ पंत काफी ‘बेहतरीन’ बल्लेबाजी फॉर्म में हैं और उसके विकेटकीपिंग कौशल में काफी सुधार हो रहा है.

33 साल के दिनेश कार्तिक ने भारत की विश्व कप के लिए चुनी गई 15 सदस्यीय टीम में दूसरे विकेटकीपर के स्थान पर पंत को पछाड़ दिया है. विश्व कप इंग्लैंड में 30 मई से शुरू हो रहा है. गावस्कर ने कहा कि यह कदम हैरानी भरा है, लेकिन उन्होंने बेहतर विकेटकीपर के तौर पर कार्तिक का समर्थन किया.

गावस्कर ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा, ‘पंत के फॉर्म को देखते हुए यह थोड़ा हैरानी भरा है. वह सिर्फ आईपीएल में ही नहीं, बल्कि इससे पहले भी काफी बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे थे. वह विकेटकीपिंग में भी काफी सुधार दिखा रहे थे. वह शीर्ष छह में बाएं हाथ का बल्लेबाजी विकल्प मुहैया कराते जो गेंदबाजों के खिलाफ काफी अच्छा होता.’

उन्होंने कहा, ‘गेंदबाजों को बाएं हाथ के बल्लेबाजों के लिए अपनी लाइन एवं लेंथ में बदलाव करना पड़ता और कप्तान को मैदान में काफी इंतजाम करने होते.’

पंत ने इस मौजूदा आईपीएल में अभी तक 245 रन जबकि कार्तिक ने 111 रन बनाए हैं. गावस्कर ने हालांकि इस कदम के फायदे भी बताते हुए कहा, ‘किसी दिन सुबह को अगर महेंद्र सिंह धोनी को फ्लू होता है और वह नहीं खेल पाता तो आप ऐसा खिलाड़ी चाहोगे जो बेहतर विकेटकीपर हो. मुझे लगता है कि कार्तिक को किसी और चीज से ज्यादा विकेटकीपिंग कौशल से ही टीम में जगह मिली.’

उन्होंने कहा कि तमिलनाडु के ऑलराउंडर विजय शंकर की ‘त्रिआयामी विशेषताओं’ को देखते हुए वह टीम के लिए काफी उपयोगी खिलाड़ी होंगे. उन्होंने कहा, ‘वह ऐसा क्रिकेटर है, जिसने पिछले एक साल में काफी सुधार किया है. उनके आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हुई है. शंकर काफी उपयोगी क्रिकेटर भी हैं. वह काफी अच्छे बल्लेबाज हैं, उपयोगी गेंदबाज हैं और बेहतरीन क्षेत्ररक्षक है.’