भुवनेश्वर: सम्बलपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हेलीकॉप्टर की कथित रूप से जांच करने के लिए निर्वाचन आयोग ने ओडिशा के जनरल पर्यवेक्षक को बुधवार (17 अप्रैल) को निलंबित कर दिया. आयोग की तरफ से जारी आदेश के अनुसार, कर्नाटक कैडर के 1996 बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने एसपीजी सुरक्षा से जुड़े निर्वाचन आयोग के निर्देश का पालन नहीं किया.

जिला कलेक्टर और पुलिस महानिदेशक की रिपोर्ट के आधार पर आयोग ने सम्बलपुर के जनरल पर्यवेक्षक को घटना के एक दिन बाद निलंबित कर दिया गया. घटना मंगलवार (16 अप्रैल) को हुई. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सम्बलपुर में प्रधानमंत्री के हेलीकॉप्टर की जांच करना निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत नहीं था. अप्रैल 2014 में जारी निर्देशों के मुताबिक, एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को ऐसी जांच से छूट प्राप्त होती है.

जानकारी के मुताबिक, चुनाव आयोग ने उपचुनाव आयुक्त धर्मेद्र शर्मा को संबलपुर भेजा है. उनसे प्रधानमंत्री से जुड़े मामले की विस्तृत जांच करके दो दिन में रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा गया है.

चुनाव आयोग के सचल दस्ते ने मंगलवार को राउरकेला में बीजू जनता दल अध्यक्ष और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के हेलीकॉप्टर के अंदर जाकर जांच पड़ताल की थी. पार्टी सूत्रों ने यह जानकारी दी.  उन्होंने कहा कि पटनायक ने दस्ते को पूर्ण सहयोग दिया और जब तक प्रक्रिया पूर्ण नहीं हो गई तब तक वे हेलीकॉप्टर के अंदर ही बैठे रहे. मुख्यमंत्री ने राउरकेला में एक रोडशो आयोजित किया था. केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के हेलीकॉप्टर की भी सचल दस्ते ने मंगलवार को जांच पड़ताल की थी.