नतमस्तक है ये वतन आज शहादत पर तेरी, जहां में हर शख्स आज तुझसे छोटा नजर आता है। जिस हेमंत करकरे ने 26/11 के आतंकी हमले में खुद को कुर्बान कर दिया था। जिसे भारत सरकार ने अशोक चक्र से सम्मानित किया उसे प्रज्ञा भारती ने देशद्रोही करार दे दिया। गजब है साब ये सियासत। बाकी ताज्जुब इस बात का है कि गोदी इलेक्ट्रानिक मीडिया साध्वी की इमेज मेकिंग में लगा हुआ है। सोशल मीडिया पे तमाम भक्त और पार्टी से जुड़े पत्रकार भी साध्वी का बचाव करते नजर आ रहे हैं। बाकी अखबार ने खबर को भरपूरी लीडरी सौंपी। दिग्विजय सिंह इस चुनाव में किसी भी तरह के प्रवोकेशन से बच रहे हैं। मप्र में अघोषित बिजली कटौती पे सरकार की सख्ती वाली खबर भी यहां सेट हो गई। हादसों को न्यौता देते खुले में एक तार पे लटके मीटर और खुले ट्रान्सफार्मर वाली खबर शानदार रही।