ओह...क्या हो गया है इंसानियत तो अब बची ही नहीं। श्रीलंका के चर्च सहित आठ ठिकानों पे हुए हमलों से 215 बेगुनाहों की मौत हो गई। इस हमले की तुलना अखबार ने मुंबई सीरियल ब्लास्ट से की है। पिछले आम चुनाव से कंपेयर करते हुए भाजपा को अपनी शहरी सीटें बचाए रखने की चुनौती वाली खबर पूरी रिसर्च के बाद आई। प्रज्ञा भारती ने दड़ेदम कहा है कि वो बाबरी मस्जिद तोड़ने उन्ने भी मदद करी थी। हालांकि लोग सोशल मीडिया पे उन्हें ट्रोल कर पूछ रहे हैं कि साड़े चार साल की उम्र में भी उन्ने ये कारनामा कर दिया। मोदी ने राजस्थान में पब्लिक सेई पूछ लिया के क्या आपको मोदी के अलावा कोई दूसरा नाम दिखता है। सई हे साब आपके आगे कौन दिखाई देगा। चलो चुनावी चक्कर छोड़ो साब। आप तो ये जानलो के पानी पुरी में हरे रंग का पानी घातक है। शहर के चार डेवलपमेंअ प्रोजेक्ट ठप पड़े हैं। गुड इंडेप्थ स्टोरी।