मुंबई: भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने सोमवार को इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने वालों को ब्याज में 0.20 प्रतिशत छूट देने की घोषणा की है. इस पहल का मकसद इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेंट को बढ़ावा देना है. उद्योग के आंकड़े के अनुसार 2018-19 में 36 लाख कारों में से इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी करीब 1,000 सालाना है. दो पहिया वाहनों को मिलाकर यह आंकड़ा 54,000 सालाना रहा है. इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने की कई नीतियों के बावजूद इस खंड में मांग जोर नहीं पकड़ पा रही है.

SBI के प्रबंध निदेशक (खुदरा और डिजिटल बैंकिंग) पी के गुप्ता ने कहा, 'हमे भरोसा है कि एसबीआई ग्रीन कार लोन (इलेक्ट्रिक वाहन) योजना व्हीकल लोन सेक्शन में बदलाव की अगुवा बनेगी तथा ग्राहकों के बीच इलेक्ट्रिक वाहन की मांग बढ़ाने में मदद करेगी.' इसके तहत ग्राहकों को आठ साल तक के लिये कर्ज दिया जाएगा. योजना शुरू होने के पहले छह महीने में प्रोसेसिंग फीस नहीं लगेगा.

बता दें, देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल को प्रोमोट करने के लिए FAME (फास्ट अडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिक व्हीकल) योजना की शुरुआत की गई थी. इस योजना के दूसरे चरण में सरकार ने 10 हजार करोड़ रुपये स्वीकृत की है. अगर आप इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदते हैं तो इस योजना के तहत आपको कई तरह की छूट दी जाएगी. अगर आप दो पहिया इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदते हैं तो 20000 रुपये तक का फायदा उठा सकते हैं

इसी तरह तीन पहिया इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर 50 हजार रुपये तक की छूट मिलेगी, और चार पहिया इलेक्ट्रिक वाहन पर 1.5 लाख रुपये तक छूट मिलेगी. FAME-2 योजना 1 अप्रैल 2019 से लागू है. कुल मिलाकर इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदने पर आपको कई तरह की छूट मिल रही है. साथ ही पर्यावरण संरक्षण की दिशा में भी उठाया गया एक अच्छा कदम होगा.