लोकसभा चुनाव की सियासी जंग जीतने के लिए राजनीतिक दल और उनके शीर्ष नेता जमकर पसीना बहा रहे हैं. राजनीतिक दलों के नेता एक-दूसरे पर जमकर हमला बोल रहे हैं. अब समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कांग्रेस पर करारा प्रहार किया है.

कांग्रेस के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने वाले अखिलेश यादव ने कहा, 'देश में अगर समाजवादियों को कभी किसी ने धोखा दिया है, तो वो कांग्रेस के लोग हैं. कांग्रेस के लोगों ने हमें धोखा दिया है. हालांकि यह बात सही है कि कांग्रेस के साथ हमारा गठबंधन था. हमें नहीं पता था कि कांग्रेस में ज्यादा घमंड है. गठबंधन कुछ नहीं होता है और घमंड बड़ी चीज है.'

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का यह बयान उस समय सामने आया है, जब लोकसभा चुनाव के तीन चरण के मतदान संपन्न हो चुके हैं. अब चौथे चरण के लिए 29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे और आखिर चरण के लिए 19 मई को वोटिंग होगी. इसके बाद 23 मई को चुनाव के नतीजे आएंगे. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में पहले समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और राष्ट्रीय लोक दल (आरएलडी) गठबंधन ने कांग्रेस को दरकिनार कर दिया था.

इसके बाद कांग्रेस पार्टी ने प्रियंका गांधी वाड्रा को चुनाव प्रचार में उतार दिया. इसके चलते सियासी माहौल बदल गया और सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन ने कांग्रेस को साथ लाने की कोशिश की. हालांकि सीटों के बंटवारे को लेकर बात नहीं बनी और कांग्रेस पार्टी ने उत्तर प्रदेश में अपने दम पर चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया. इसके बाद से सपा-बसपा-आरएलडी और कांग्रेस आमने-सामने आ गए.

इससे पहले समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ा था. इसमें समाजवादी पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा था. इसके साथ ही सपा यूपी की सत्ता से बाहर हो गई थी और भारतीय जनता पार्टी ने बहुमत से जीत दर्जकर सरकार बना ली थी.

इसके अलावा समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर एक बार फिर से निशाना साधा है. उन्होंने कहा, 'हमें कह रहे हैं कि संविधान नहीं होता है, तो हम भैंस चरा रहे होते, कैसे सीएम हैं योगी आदित्यनाथ? अगर लैपटॉप दे दो कि जरा चला दो तो दो दिन पता नहीं लगेगा और गायब हो जाएंगे. हमारे बारे में उनके विचार ये हो सकते हैं, तो सोचो गरीब के बारे में क्या तुलना करते होंगे?'