नई दिल्ली: बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार फिर बीजेपी सरकार और चुनाव आयोग पर निशाना साधा है. उन्होंने एक बार फिर सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी बात रखी है. ट्विटर पर बीएसपी प्रमुख मायावती ने दो ट्वीट किए हैं.

उन्होंने बीजेपी और आरएसएस पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी एण्ड कम्पनी के लोग यह कहकर कि मोदी के मुकाबले विपक्ष का पीएम पद का उम्मीदवार कौन है, देश की 130 करोड़ जनता का बार-बार अपमान क्यों करते रहते है? ऐसा ही अहंकारी सवाल पहले उठाया गया था कि नेहरू के बाद कौन? लेकिन देश ने इस का तगड़ा व माकूल जवाब तब भी दिया था व आगे भी जरूर देगा.

बीजेपी एण्ड कम्पनी के लोग यह कहकर कि मोदी के मुकाबले विपक्ष का पीएम पद का उम्मीदवार कौन है, देश की 130 करोड़ जनता का बार-बार अपमान क्यों करते रहते है? ऐसा ही अहंकारी सवाल पहले उठाया गया था कि नेहरू के बाद कौन? लेकिन देश ने इस का तगड़ा व माकूल जवाब तब भी दिया था व आगे भी जरूर देगा

— Mayawati (@Mayawati) April 25, 2019

दूसरे ट्वीट में उन्होंने कहा कि पीएम मोदी चुनाव आचार संहिता उल्लंघनों के अनेको गंभीर आरोपों के बावजूद थैंक्स टू चुनाव आयोग अबतक पूरी तरह से आज़ाद व बेपरवाह घूम रहे हैं और इसीलिए अब इन्होंने महिला सम्मान व मर्यादाओं की सीमा भी लांघनी शुरू कर दी है. वाकई बीजेपी और आरएसएस ने लाजवाब नेता 5 साल तक देश पर थोपा !

पीएम श्री मोदी चुनाव आचार संहिता उल्लंघनों के अनेकों गंभीर आरोपों के बावजूद थैंक्स टू चुनाव आयोग अबतक पूरी तरह से आज़ाद व बेपरवाह घूम रहे हैं और इसीलिए अब इन्होंने महिला सम्मान व मर्यादाओं की सीमा भी लांघनी शुरू कर दी है। वाकई बीजेपी/आरएसएस ने लाजवाब नेता 5 वर्ष तक देश पर थोपा!

— Mayawati (@Mayawati) April 25, 2019

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के शंखनाद के बाद से ही मायावती बीजेपी पर हमलावर हैं. इससे पहले मायावती ने ट्वीट करके आरक्षण मुद्दे पर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा था. मायावती ने कहा कि आरक्षण मामले में पीएम नरेंद्र मोदी देश को गुमराह कर रहे हैं. कांग्रेस की तरह इनके शासनकाल में भी एससी/एसटी और ओबीसी आरक्षण की व्यवस्था को पूरी तरह से निष्क्रिय और निष्प्रभावी बना दिया गया है. इसके लिए मोदी सरकार को जवाब देना होगा.