नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चुनाव प्रचार अभियान में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को बार-बार निशाना बनाए जाने के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने गुरुवार को कहा कि शहीद प्रधानमंत्री के बारे में अपशब्द कहना ‘‘बेहद कायरता’’ की निशानी है. पटेल का यह बयान ऐसे समय में आया है, जब मोदी ने एक दिन पहले ही गांधी परिवार पर आरोप लगाया था कि जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे तो गांधी परिवार युद्धपोत आईएनएस विराट का उपयोग ‘‘निजी टैक्सी’’ के रूप में करता था.

पटेल ने ट्वीट किया, ‘‘उनकी नफरत के कारण राजीवजी ने अपना जीवन गंवा दिया और वह अपने खिलाफ कहे जा रहे अपशब्दों एवं लगाए जा रहे निराधार आरोपों का उत्तर देने के लिए अब हमारे बीच यहां नहीं हैं. एक शहीद प्रधानमंत्री के लिए अपशब्द कहना बेहद कायरता है.’’

Abusing a martyred Prime Minster is the sign of ultimate cowardice

But who is responsible for his assassination ?

The BJP backed VP Singh govt refused to provide him with additional security & left him with one PSO despite credible intelligence inputs and repeated requests

— Ahmed Patel (@ahmedpatel) May 9, 2019

Rajiv ji lost his life due to their hatred & is no longer here amongst us to answer the baseless allegations & abuses which are being unleashed on him

— Ahmed Patel (@ahmedpatel) May 9, 2019

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी हत्या का जिम्मेदार कौन है? विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिलने और बार बार अनुरोध किए जाने के बाद भी भाजपा समर्थित वी पी सिंह सरकार ने उन्हें अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराने से इनकार कर दिया था और उन्हें केवल एक पीएसओ दिया था.’’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी एवं महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत कई कांग्रेस नेताओं ने राजीव गांधी पर निशाना साधने के लिए मोदी की आलोचना की है. इससे पहले भी मोदी ने बोफोर्स घोटाले का जिक्र करते हुए राजीव गांधी को ‘‘भ्रष्टाचारी नंबर एक’’ बताया था. राजीव गांधी 1984 से 1989 तक देश के प्रधामनंत्री रहे थे.