लखनऊ: लोकसभा चुनाव 2019 के सातों चरण के मतदान खत्म होने के बाद रविवार देर शाम एग्जिट पोल (Exit Polls) सामने आए. यूपी में चुनाव प्रचार के दौरान सपा-बसपा और आरएलडी गठबंधन की रैली में कांग्रेस पर भी हमला बोलने वाली बसपा प्रमुख मायावती की ये बैठक नई सरकार के गठन के लिए काफी अहम मानी जा रही थी. लेकिन सुबह होते-होते बैठक को टाल दिया गया. क्योंकि कल (रविवार) दिखाए गए एग्जिट पोल्स में एक बार फिर से एनडीए को विजयी दिखाया गया है.

BSP leader SC Mishra to ANI: Mayawati ji has no programme or meetings scheduled in Delhi today, she will be in Lucknow. (File pic: Mayawati) pic.twitter.com/SRtTsqX3W0

— ANI UP (@ANINewsUP) May 20, 2019

दरअसल, बसपा नेता एससी मिश्रा ने न्यूज एजेंसी ANI को कहा है कि बसपा सुप्रीमो मायावती आज लखनऊ में ही रहेंगी, दिल्ली में कोई मीटिंग आज नहीं होने वाली है, आपको बता दें कि ऐसी खबर थी कि सोमवार (20 मई) दिल्ली में मायावती केंद्र में नई सरकार के गठन के लिए विपक्षी दलों को एकजुट करने की कोशिशों के बीच यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकती हैं, इस बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के भी मौजूद रहने की बात कही गई थी.

मायावती ने प्रचार के दौरान बीजेपी और कांग्रेस दोनों पर लगातार हमला करती रही हैं. मायावती ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करके उत्तर प्रदेश में चुनाव लड़ा है. हालांकि, यूपी के गठबंधन में कांग्रेस को बाहर रखने के बाद भी मायावती ने अपने समर्थकों से अपील की थी कि राहुल गांधी की संसदीय सीट अमेठी और सोनिया गांधी की सीट रायबरेली में कांग्रेस को वोट दें. सपा-बसपा और आरएलडी गठबंधन ने इन दोनों सीटों से अपने उम्मीदवार नहीं उतारे थे.

वहीं, एग्जिट पोल के दिखाए जाने के बाद 21 मई को होने वाली विपक्षी दलों की बैठक को अब चुनाव नतीजों तक टाल दिया है. जानकारी के मुताबिक, अब यह बैठक 24 मई को होगा. चंद्रबाबू नायडू ने 21 मई को विपक्ष की बैठक रखने का प्रस्ताव दिया था, लेकिन ज्यादातर विपक्षी दलों ने 23 के नतीजों के बाद बैठक करने पर सहमति जताई थी. अब एग्जिट पोल के सामने आने के बाद विपक्ष के प्लान में बदलाव किया गया है.