नई दिल्लीः एक्जिट पोल पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने उत्साहित प्रतिक्रिया दी और कहा कि इससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में माहौल का पता चलता है. चुनाव परिणाम की घोषणा से पहले आये विभिन्न एक्जिट पोल में मौजूदा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) सरकार की वापसी का पूर्वानुमान जताया गया है हालांकि विपक्षी दलों ने एक्जिट पोल को खारिज किया है. कांग्रेस नेता शशि थरूर ने दावा किया कि एक्जिट पोल गलत होते हैं. उन्होंने अपनी बात सही साबित करने के लिये आस्ट्रेलिया के चुनाव का हवाला दिया जहां कई एक्जिट पोल गलत साबित हुए.

शशि थरूर ने अपने ट्वीट में लिखा, 'मुझे ऐसा लगता है कि एक्जिट पोल गलत साबित होते हैं. ऑस्ट्रेलिया में पिछले वीकेंड में 56 अलग अलग एक्जिट पोल गलत साबित हुए थे. भारत में भी कई लोग सर्वे करने वालों को सच नहीं बताते हैं क्योंकि उन्हें यह डर होता है कि यह सरकार का आदमी है. हमें 23 मई को असली नतीजों का इंतजार करना चाहिए.'

I believe the exit polls are all wrong. In Australia last weekend, 56 different exit polls proved wrong. In India many people don’t tell pollsters the truth fearing they might be from the Government. Will wait till 23rd for the real results.

— Shashi Tharoor (@ShashiTharoor) May 19, 2019

वहीं बीजेपी के प्रवक्ता जी.वी.एल. नरसिम्हा राव ने कहा कि लोगों ने मोदी के अच्छे प्रशासन को पुरस्कार दिया है. उन्होंने कहा, ‘‘एक्जिट पोल से नरेंद्र मोदी के नेतृत्व के लिये बेहद सकारात्मक मतदान होने के स्पष्ट संकेत मिलते हैं. मोदी ने अतुल्य समर्पण से देश की सेवा की है. लोग अच्छे प्रशासन को पुरस्कार देते हैं, यह एक बार फिर से उत्साहजनक जनमत से साबित हुआ है. यह बुराइयां करने वाले उस विपक्ष को तमाचा है जो आधारहीन आरोप लगाता है और झूठ बोलता है.’’

उधर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस की सुप्रीमो ममता बनर्जी ने एक्जिट पोल को “अटकलबाजी” करार देते हुए कहा कि उन्हें ऐसे सर्वेक्षणों पर भरोसा नहीं क्योंकि इस “रणनीति” का इस्तेमाल ईवीएम में “गड़बड़ी” करने के लिए किया जाता है. उन्होंने ट्वीट किया, “मैं एक्जिट पोल के कयासों पर भरोसा नहीं करती. यह रणनीति अटकलबाजी के जरिए हजारों ईवीएम को बदलने या उनमें हेरफेर करने के लिए प्रयुक्त होती है. मैं सभी विपक्षी पार्टियों से एकजुट, मजबूत और साहसी रहने की अपील करती हूं.”

हालांकि कांग्रेस की सहयोगी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि सारे एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘सारे एक्जिट पोल गलत नहीं हो सकते हैं. यह टीवी बंद करने, सोशल मीडिया से लॉग आउट करने का समय है तथा यह देखना है कि क्या 23 मई के बाद दुनिया अपनी धुरी पर अभी भी घूम रही है.’’

कांग्रेस के प्रवक्ता संजय झा ने कहा कि शांत मतदाता ही 23 मई को राजा साबित होंगे. सीपीआई के डी राजा ने भी पूर्वानुमान को खारिज करते हुए कहा कि ये सिर्फ ट्रेंड भर हैं.