अब हवाएं ही करेंगी रोशनी का फैसला, जिस दिए में जान होगी वो दिया रह जाएगा। तमाम एग्जिट पोल एनडीए की सरकार की वापसी हो रही है। गोया के आएगा तो मोदी वाले जुमले को हकीकत में बदलती दिखीं तमाम सर्वे एजेंसियां। जाहिर है मोदी की वापसी के कयासों से भक्तों में जबर जोश है। वहीं राहुल से लेके कमलनाथ के रए हेंगे के अभी 23 तक इंतजार कीजिए, उसी दिन सच सामने आएगी। पर्दे के पीछे चर्चा ये भी चल्लई हेगी के सर्वे के पीछे सटोरियों का भी दखल है। सोनिया और मायावती की भेंट और 22 से भागवत का दिल्ली में डेरा वाला आईटम भी सटीक रहा। स्मार्ट सिटी के तहत एबीडी में प्राइवेट पार्टिंयों ने रुचि नहीं दिखाई तो अब उद्योग समूहों को सीधे जमीन खरीदने का आॅफर दिया जा रहा है। हर्ष पचौरी की नायाब खबर।