नई दिल्ली : पूर्व दिग्गज भारतीय क्रिकेटर राहुल द्रविड़ का कहना है कि इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप में हाई-स्कोरिंग विकेट ही मिलने की संभावना है, पर भारतीय गेंदबाज किसी भी पिच पर विकेट लेने में सक्षम है। द्रविड़ फिलहाल भारत-ए टीम और अंडर-19 टीम के कोच हैं। उन्होंने कहा- 'मैं पिछले साल भी जूनियर टीमों के साथ इंग्लैंड गया था। यहां मैच हाई-स्कोरिंग हो सकते हैं। जो टीम मिडल ओवर्स में विकेट निकालती है, वो डेथ ओवर्स शुरू होने से पहले ही बल्लेबाजों पर दबाव बना सकती है।'

पिछले एक साल में वनडे में सबसे ज्यादा विकेट लेने में भारत ही टॉप पर है। एक साल में 27 वनडे में भारतीय गेंदबाजों ने 202 विकेट चटकाए हैं। दूसरे स्थान पर दक्षिण अफ्रीका है, जिसने 21 मैच में 169 विकेट लिए। पाकिस्तान ने भी एक साल में 27 मैच खेले, पर 140 विकेट ही लिए।

कप्तान विराट कोहली पर राहुल द्रविड़ ने कहा- 'वे एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जो मैच-दर-मैच खुद में सुधार लाते हैं। विराट खिलाड़ियों को पूरा सपोर्ट देते हैं और ये एक कप्तान के लिए बेहद जरूरी होता है।' पूर्व कप्तान एमएस धोनी की टीम में भूमिका पर द्रविड़ ने कहा- 'वे जानते हैं कि बड़े मैचों का दबाव कैसे झेला जाता है। वे बड़े मैच इस तरह से खेलते हैं, जैसे उनके लिए ये कोई बड़ी बात नहीं।'

मई 2018 से मई 2019 तक गेंदबाजी स्ट्राइक रेट में दक्षिण अफ्रीका नंबर-1 है। अफ्रीकी गेंदबाजों को हर 31.3 गेंद पर विकेट मिला। न्यूजीलैंड (35.6) दूसरे, अफगानिस्तान (36.2) तीसरे, भारत चौथे (36.6), इंग्लैंड (36.8) पांचवें, श्रीलंका (38.8) छठे, ऑस्ट्रेलिया (42.1) सातवें और पाकिस्तान (47.6) सबसे निचले 10वें नंबर पर है।

ऑस्ट्रेलिया टीम के हेड कोच जस्टिन लेंगर का कहना है कि इंग्लैंड में वर्ल्ड कप के दौरान उनकी टीम के स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की दर्शकों की तरफ से जमकर हूटिंग हो सकती है। दोनों खिलाड़ियों पर 2018 में बॉल टेम्परिंग के कारण प्रतिबंध लगा था, जो अब पूरा हो गया है और दोनों टीम में वापसी कर रहे हैं। इसी वजह से लेंगर ने दोनों की अब हूटिंग होने की संभावना जताई है।