अयोध्या: रमजान का पाक महीना चल रहा है. इस दौरान मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जन्मभूमि में अयोध्या में एक बार फिर से सालों पुरानी हिंदू मुस्लिम एकता और सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल देखने को मिली. अयोध्या स्थित श्री सीता राम मंदिर में मुस्लिम समुदाय के रोजादारों के लिए रोजा इफ्तार का आयोजन कराया. जानकारी के मुताबिक, मंदिर ट्रस्ट के द्वारा इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया था.

Ayodhya's Shri Sita Ram temple hosts Iftar

Read @ANI story | https://t.co/YYx8PpDVvk pic.twitter.com/xryYtXxuti

— ANI Digital (@ani_digital) May 21, 2019

इस रोजा इफ्तार में मुस्लिम समुदाय के लोगों के अलावा नगर के कुछ साधु-संत और सिख समुदाय के लोग भी शामिल हुए. मंदिर के महंत युगल किशोर ने बताया कि ये तीसरी बार है, जब मंदिर ट्रस्ट के द्वारा इफ्तार पार्टी का अयोजन किया गया है. उन्होंने कहा कि आगे भी हम इस तरह का आयोजन करते रहेंगे. मंद्र के पुजारी ने कहा कि हमें सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल देनी चाहिए और हर त्योहार को हर्षोंल्लास के साथ मनाना चाहिए.

रोजा इफ्तार के लिए पहुंचे मुजामिल फिजा ने कहा कि जहां देश में धर्म के नाम पर राजनीति हो रही है. उन लोगों के लिए महंत युगल किशार एक उदाहरण हैं, जो देश में शांति और सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि अयोध्या में अल्पसंख्यक होने के बावजूद हमें कभी डर नहीं लगा.

मुस्लिमों को रोजा इफ्तार के लिए साधुओं ने खजूर के साथ मंदिर के प्रसाद का लड्डू भी दिया. इस मौके पर मंदिर में मौजूद तमाम हिंदू-मुसलमान और सिख प्रतिनिधियों ने सांप्रदायिक सौहार्द और शांति के लिए शपथ ली.