भुवनेश्वर : ओडिशा में पिछले महीने फोनी चक्रवात ने कहर बरपाया था. राज्य के तटीय जिलों में तीन मई को चक्रवात फोनी आया था जिसमें एक अनुमान के मुताबिक, 12,000 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ था. राज्‍य सरकार ने चक्रवात फोनी से हुए नुकसान के बाद राज्य में पुनर्निर्माण के लिए विदेशी नागरिकों और प्रवासी भारतीयों से चंदा देने की मांग की है. उन्होंने कहा कि उनके योगदान से ‘कई लोगों को लाभ’ मिलेगा.

मुख्यमंत्री कार्यालय ने सोमवार को ट्वीट किया, ‘‘ओडिशा का राहत कोष अब विदेशी नागरिकों, भारतीय मूल के व्यक्तियों, विदेश में रहने वाले भारतीयों और प्रवासी भारतीयों से मिलने वाला चंदा स्वीकार कर रहा है.’’

6 मई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा में चक्रवात फोनी के कारण हुई क्षति का आकलन करने के लिए हवाई सर्वेक्षण किया था. पीएम मोदी ने हवाई दौरे के बाद ओडिशा के हालात पर मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक और शीर्ष अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की थी. उन्‍होंने केंद्र सरकार की ओर से आपदा प्रभावित ओडिशा को 1000 करोड़ रुपये अतिरिक्‍त सहायता राशि देने का ऐलान किया था. इससे पहले ओडिशा को केंद्र सरकार की ओर से 381 करोड़ रुपये बतौर सहायता राशि दी जा चुकी थी.