नई दिल्लीः कांग्रेस के स्टार प्रचारक नवजोत सिंह सिद्धू अपने बड़बोले बयानों की वजह से चारों तरफ से घिर गए हैं। वह अपने ही सूबे के सीएम कैप्टन अमरेंद्र सिंह के निशाने पर तो हैं ही वहीं दूसरी तरफ विरोधी राजनीतिक दल उनसे इस्तीफे की मांग करने लगे हैं। चूंकि उन्होंने राहुल गांधी के अमेठी से चुनाव हारने पर राजनीति से सन्यास लेने की बात कही थी। सोशल मीडिया में सिद्धू के बयानों को लेकर लगातार ट्राेलिंग जारी है। सिद्धू ने जिन राज्यों में चुनाव प्रचार किया है वहां कांग्रेस का सुपड़ा साफ हो चुका है। सिद्धू के बड़बोले बयानों को लेकर सोशल मीडिया उन पर भारी पड़ रहा है।  

दरअसल,  सिद्धू ने रायबरेली में सोनिया गांधी के लिए चुनाव प्रचार करते हुए 28 अप्रैल को एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि अगर राहुल गांधी अमेठी से हार जाते हैं तो वह राजनीति से संन्यास लें लेंगे। अब बीजेपी उम्मीदवार स्मृति ईरानी के हाथों प्रतिष्ठित अमेठी लोकसभा सीट कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से गंवाने के बाद सिद्धू को सोशल मीडिया पर बुरी तरह ट्रोल किया जा रहा है। 

PunjabKesari

एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा- "नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर से लाफ्टर शो में आइ', आपकी असली जगह वहीं पर है।"जबकि, एक अन्य ने ट्वीट करते हुए लिखा है- "मैं जानता हूं कि वह अपनी जुबान के पक्के हैं... अब छोड़ देंगे।"

PunjabKesari

वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने राज्य के चुनावी नतीजे घोषित होते ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर एक और सियासी हमला बोलते हुए कहा है कि वह अपना विभाग (लोकल बॉडीज) सही ढंग से चला नहीं पा रहे हैं जिस कारण शहरी विकास कार्यों में कमी देखी गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले 2-3 दिनों में वह दिल्ली जाएंगे तथा सिद्धू के मामले को कांग्रेस हाईकमान के सामने उठाएंगे। मुख्यमंत्री का यह बयान आने के बाद सिद्धू की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।