नई दिल्ली : सूरत स्थित तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में लगी आग में मरने वाले छात्रों की संख्या 20 हो गई है। सूरत पुलिस ने कॉम्प्लेक्स के बिल्डरों हर्षल वकेरिया और जिग्नेश के अलावा कोचिंग सेंटर के मालिक भार्गव भूटानी के खिलाफ FIR दर्ज कर उन्हे हिरासत में ले लिया है। अधिकतर छात्रों की मौत घबराहट में तीसरी और चौथी मंजिल से नीचे कूद जाने के कारण हुई।

बता दें कि सूरत स्थित तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में शुक्रवार को अचानक आग लगने से 20 छात्रों की मौत हो गई है और कई घायल हो गए। टीवी चैनलों पर दिखाईं जा रही वीडियो में सरथना इलाके के तक्षशिला परिसर में लगी आग का भयानक मंजर दिखाई दिया, जहां छात्र आग से बचने के लिए खिड़कियों से कूदते नजर आए। सूरत के पुलिस कमिश्नर सतीश कुमार मिश्रा ने मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई है। फिलहाल आग लगने की वजह साफ नहीं है।

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि हमने मामले में विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं और दोषी पाए गए किसी भी व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा। राज्य के दमकल विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि करीब 10 छात्र आग से बचने के लिए तीसरी और चौथी मंजिल से कूद गए। कई लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटनास्थल का जायजा लेने के बाद मुख्यमंत्री रूपाणी ने कहा कि ऑडिट में पता लगाया जाएगा कि राज्य में शैक्षणिक संस्थानों में आग की घटना से बचाव के लिए समुचित उपकरण और सुविधाएं हैं या नहीं। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य शहरों और नगरों में अस्पताल, मॉल और दूसरी वाणिज्यिक इमारतों को भी ऑडिट में शामिल किया जाएगा।