नई दिल्ली: देश के उत्तर और मध्य क्षेत्र में गर्मी का कहर शुक्रवार को जारी रहा. उत्तर प्रदेश में आंधी-तूफान और बिजली गिरने से कम से कम 26 लोगों की मौत हो गयी और 57 अन्य घायल हो गये. मौसम विभाग ने पूर्वानुमान है कि शनिवार से मंगलवार तक उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र के विदर्भ में ‘भीषण गर्मी’ का प्रकोप जारी रहेगा. शुक्रवार को मध्यप्रदेश का होशंगाबाद 46.8 डिग्री सेल्सियस के अधिकतम तापमान के साथ देश का सबसे गर्म स्थान रहा जबकि राजस्थान में चुरू का अधिकतम तापमान 46.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

हालांकि, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, बिहार और झारखंड के कई स्थानों पर हुई हल्की बारिश ने लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत दी. राजस्थान के पश्चिमी हिस्सों में भीषण गर्मी के साथ लू का प्रकोप जारी है. हालांकि प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में कल के मुकाबले अधिकतम तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की गई.

मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि चूरू में अधिकतम तापमान 46.6 डिग्री सेल्सियस, बाड़मेर में 46.4, डिग्री, कोटा में 46.1 डिग्री, बीकानेर में 45.8 डिग्री, श्रीगंगानगर में 45.7 डिग्री, जैसलमेर में 45.5 डिग्री, जोधपुर में 45.3 डिग्री, अजमेर में 44.5 डिग्री, डबोक में 44 डिग्री और राजधानी जयपुर में 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है.

राष्ट्रीय राजधानी में 20 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चली हवाओं के कारण शहर के उच्चतम तापमान में गिरावट आयी और यह 40.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. उत्तर प्रदेश के कई स्थानों में शुक्रवार को हल्की से मध्यम बारिश हुई. प्रदेश में आंधी-तूफान और बिजली गिरने से कम से कम 26 लोगों की मौत हो गयी और 57 अन्य घायल हो गये.प्रदेश के राहत आयुक्त कार्यालय ने शुक्रवार को बताया कि मैनपुरी में सबसे अधिक छह, एटा और कासगंज में तीन-तीन, बाराबंकी एवं फर्रुखाबाद में दो-दो लोगों लोगों की मृत्यु हुई है.

इसके अलावा आकाशीय बिजली गिरने के चलते मुरादाबाद, बदायूं, पीलीभीत, मथुरा, कन्नौज, संभल और गाजियाबाद में भी एक एक व्यक्ति की मृत्यु हुई. ूत्रों के अनुसार राज्य के अलग अलग हिस्सों में गुरूवार देर शाम आंधी-तूफान आने की वजह से जगह-जगह पेड़ टूटकर गिर गये और कई मकानों की दीवारें भी ढह गयीं. इन हादसों में प्रदेश के विभिन्न जिलों में कुल 57 लोग घायल भी हुए हैं. सबसे अधिक 41 लोग मैनपुरी में घायल हुए.उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने बताया कि मुख्यमंत्री की ओर से पीडितों के परिजनों को चार-चार लाख रूपये की मदद का ऐलान किया गया है.पंजाब, हरियाणा और दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में गर्मी का प्रकोप जारी रहा.