नौबरस की फूल सी बच्ची के साथ ज्यादती की और फिर उसे कत्ल कर दिया। यहां तक की कातिल बच्ची को ढूंढने का नाटक भी करता रहा। रिपोर्ट लिखाने गए मां-बाप से कान्सटेबल ने चाय नाश्ते के पैसे तक मांग लिए। मौके  पर पुलिस, आरोपी की झुग्गी में बेटी की चूड़ियां और खून के धब्बे देख मां फफक पड़ी। फिलहाल बलात्कारी कातिल पुलिस पकड़ से बाहर है। पूरी खबर सिटी पेज पे भी शिद्दत से आई। एपी एक्सप्रेस में फिर एसी फेल होने वाली खबर भी भरपूर स्पेस पा गई। जेपी में प्रशासकीय काम अब मैनेजर देखेंगे। मतलब डाक्टर सिर्फ डाक्टरी करेंगे। देखते हैं साब व्यवस्था कहां तक सुधरती है।एमपी में कलेक्टर गाइड लाइन की दरें दूसरे कई राज्यों से ज्यादा हैं। प्रवेंद तोमर की भेतरीन खबर।