भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सोमवार को विधानसभा की सदस्यता की शपथ ली. मध्य प्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने कमलनाथ को विधानसभा भवन के विधान परिषद सभागार में एक संक्षिप्त कार्यक्रम में सदन की सदस्यता की शपथ दिलवाई.

शपथ ग्रहण कार्यक्रम में मध्य प्रदेश विधानसभा की उपाध्यक्ष हिना कांवरे, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह, मंत्रिमंडल के सदस्य, विधायक और कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारी और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे. कमलनाथ छिन्दवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के लिए 29 अप्रैल को हुए उपचुनाव में कांग्रेस के टिकट पर विजयी हुए हैं. उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी बीजेपी के प्रत्याशी विवेक साहू को 25,800 से अधिक मतों से हराया है.

पिछले साल 17 दिसंबर को कमलनाथ ने मुख्यमंत्री के पद की शपथ ली थी. तब हुए विधानसभा चुनाव में उन्होंने प्रदेश की किसी भी सीट से चुनाव नहीं लड़ा था. इसलिए उन्हें शपथ लेने के बाद छह महीने के अंदर विधानसभा का सदस्य बनना जरूरी था. कांग्रेस विधायक दीपक सक्सेना ने छिन्दवाड़ा सीट से त्यागपत्र देकर उनके लिए यह सीट खाली की थी.