काबुल: अफगानिस्तान के सुरक्षा बलों ने बगलान व कुंदुज प्रांतों में तालिबान के दो हिरासत केंद्रों पर कब्जा किया और वहां से 50 से ज्यादा बंधकों को मुक्त कराया. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने प्रांतीय पुलिस के प्रवक्ता इनामुद्दीन रहमानी के हवाले से कहा कि तालिबान आतंकवादियों पर एक नवीनतम कार्रवाई में, सुरक्षा बलों ने कुंदुज प्रांत के अकटश जिले में देर रात 2 बजे (स्थानीय समय) तालिबान के एक गढ़ में विस्फोट किया. कुछ तालिबानी मारे गए और सुरक्षा बलों ने 13 बंदियों को मुक्त करा लिया.

उन्होंने कहा कि तालिबान के अधिकांश बंधक नागरिक हैं. संगठन ने उन्हें अपने कब्जे में ले लिया और उनका उत्पीड़न किया. जिला गवर्नर खानजादा मजलमोइर ने कहा कि एक अन्य कार्रवाई में अफगान बलों ने मंगलवार तड़के बगलान प्रांत के लखबिया इलाके में एक तालिबानी ठिकाने पर छापा मारा और सुरक्षाकर्मियों व नागरिकों सहित 44 कैदियों को रिहा कराया.

हालांकि स्थानीय लोगों ने कहा है कि छुड़ाए गए लोगों की संख्या 44 से कम है. आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता नसरत रहीमी ने समाचार एजेंसी सिन्हुआ को बताया कि बगलान में रिहा किए गए बंदियों में से 17 नागरिक हैं और शेष सेना व पुलिस सहित सुरक्षा बलों के जवान हैं.

अफगानिस्तान के रक्षा मंत्री असदुल्ला खालिद ने अपने सुरक्षा बलों को देश भर में आतंकवादियों के ठिकानों को निशाना बनाने और नष्ट करने में कोई कसर नहीं छोड़ने का निर्देश दिया है. अफगानिस्तान के राष्ट्रपति के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हमदुल्ला मोहिब ने मीडिया से कहा कि सुरक्षा बल चार महीने के भीतर 'तालिबान की कमर तोड़ देंगे.'