नई दिल्‍ली: जम्‍मू और कश्‍मीर के अनंतनाग इलाके में हुए आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के पांच जवान शहीद हो गए हैं. वहीं आतंकी वारदात में हताहत हुए तीन अन्‍य लोगों को इलाज के लिए अब 92 बेस हॉस्पिटल में रेफर कर दिया गया है. जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. हताहतों में अनंतनाग पुलिस स्‍टेशन के एसएचओ आसद खान और एक स्‍थानीय महिला है. वहीं इस आतंकी हमले को अंजाम देने वाले दो दहशतगर्दों को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है. इलाके में सुरक्षाबलों का कांबिग ऑपरेशन अभी जारी है.

सुरक्षाबल से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, सीआरपीएफ की 116वीं बटालियन के जवान जम्‍मू और कश्‍मीर पुलिस के साथ अनंतनाग के केपी चौक पर तैनात थे. बुधवार शाम करीब 4:55 बजे बाइक पर आए दो आतंकियों ने पहले ग्रेनेड से इन जवानों पर हमला किया, फिर एके-47 राइफल से ताबड़तोड़ गोलीबारी करने लगे. आतंकियों के इस हमले में कुल आठ लोग हताहत हुए. जिसमें अनंतनाग पुलिस स्‍टेशन के एसएचओ आसद खान सहित सीआरपीएफ के पांच जवान और दो अन्‍य लोग गंभीर रूप से जख्‍मी हो गए. आतंकियों की वारदात में हताहत होने वालों में एक स्‍थानीय महिला भी शामिल है.

सुरक्षाबल से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि आतंकी हमले के बाद सुरक्षाबलों की एक टीम ने आतंकियों की पीछा शुरू कर कुछ ही दूरी पर उन्‍हें घेर लिया. सुरक्षाबलों का सुरक्षा घेरा तोड़ने के लिए आतंकियों ने एक बार फिर गोलीबारी शुरू कर दी. जिसके जवाब में सुरक्षाबलों ने अपनी कार्रवाई शुरू की. वहीं, इस आतंकी वारदात की सूचना मिलते ही सीआरपीएफ की अतिरिक्‍त टुकडि़यां, भारतीय सेना की राष्‍ट्रीय राइफल्‍स और जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के स्‍पेशल ऑपरेशन स्‍क्‍वायड के कमांडो भी मौके पर पहुंच गए. कुछ देर की मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने एक आतंकी को मार गिराया. वहीं, रा‍त करीब आठ बजे सुरक्षाबलों ने दूसरे आतंकी को भी मार गिराया.  

सुरक्षाबल से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी ने बताया कि मारे गए आतंकी का शव सुरक्षाबलों ने बरामद कर मौके से एक एके-47 राइफल जब्‍त की है. वहीं, सुरक्षाबलों का कांबिंग ऑपरेशन अभी जारी है. उन्‍होंने बताया कि इस आतंकी हमले के बाद अल उमर मुजाहिदीन नामक आतंकी संगठन ने इस वारदात की जिम्‍मेदारी ली है. बताया जा रहा है कि यह आतंकी संगठन घाटी में नया है. इस आतंकी हमले से पहले इस आतंकी संगठन का नाम नहीं सुना गया था.

उधर, केपी चौक पर आतंकी वारदात में हताहत हुए सभी सुरक्षाकर्मियों को इलाके के जंगदल मंडी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. जहां इलाज के दौरान सीआरपीएफ के पांच जवान शहीद हो गए. इस आतंकी हमले में हताहत हुए एसएचओ सहित अन्‍य दो लोगों की हालत नाजुक होती देख उन्‍हें सेना के 92 बेस हॉस्पिटल में रेफर कर दिया गया. फिलहाल, हताहतों का इलाज सेना के 92 बेस हॉस्पिटल में जारी है. इस सभी की हालत नाजुक बनी हुई है.