वॉशिंगटन : एक शीर्ष अमेरिकी अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान ने पुलवामा आतंकवादी हमले के बाद आतंकवादी समूहों के खिलाफ कुछ ‘‘महत्वपूर्ण’’ कदम उठाए हैं लेकिन वह अब भी पलटी मार सकता है.

दक्षिण एवं मध्य एशियाई मामलों के लिए विदेश मंत्रालय की विशेष अधिकारी एलिस जी वेल्स ने एशिया, प्रशांत एवं परमाणु अप्रसार के लिए विदेश मामलों में सदन की उपसमिति को बताया कि लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकवादी संगठन तब तक अंतरराष्ट्रीय शांति के लिए गंभीर खतरा बने रहेंगे, जब तक वे पाकिस्तान में आजादी से काम करने में सक्षम हैं. उन्होंने अपील की कि पाकिस्तानी नेतृत्व देश में काम कर रहे आतंकवादी संगठनों के खिलाफ सतत कार्रवाई करे.

एलिस ने एक बयान में कहा, ‘‘भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव पैदा करने वाले पुलवामा आतंकवादी हमले ने क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों को रोकने की महत्ता और तत्काल आवश्यकता पर जोर दिया.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने देखा है कि हालिया महीनों में पाकिस्तान ने कुछ आतंकवादियों को हिरासत में लिया है और आतंकवादी संगठनों के लिए धन एकत्र करने वाले कुछ संगठनों की संपत्तियां जब्त की हैं. हालांकि ये कदम महत्वपूर्ण हैं, लेकिन वह अब भी पलट सकता है