आतंकी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। अमरनाथ यात्रा से पहले हुए हमले में पांच जवान शहीद हो गए। पचमढ़ी में कचरा देख राज्यपाल आनंदीबेन पटेल खुद सफाई में जुट गई। भेतरीन खबर। अपने पुलिस वालों को कानून की कित्ती समझ है ये नेहरु नगर में बच्ची से बलात्कार और हत्या के मामले में उस वक्त उजागर हुआ जब पुलिस ने आरोपी के इकबाले जुर्म के 164 के बयान ही नहीं कराए। इस खबर को लपक अंदाज में लीडरी सौंपी अखबार ने। जमीनों की रजिस्ट्री के उपबंधों में परिवार में जेठानी और देवरानी को तो जोड़ा गया है लेकिन जेठ और देवर को छोड़ दिया गया। दीपक विश्वकर्मा की खबर ध्यान खींचती है। टीटी नगर में नाले पे होटल का फोटू और 739 नालों पे अतिक्रमण वाली खबर नायाब आई। निगम भी खां घपलों की खान है। वहां अब ज्यादा वेतन के नाम पे धांधली हो रही है। साथ ही निगम ने तालाब में जहां रिटेनिंग वॉल बनाई थी वहां अब अवैध शादी हॉल चल रहा है। कमाल खबर। एआईआरएफ के नेता शिवगोपाल मिश्रा की पत्नी और पोती की हादसे में मौत वाली खबर मार्मिक आई।