फरीदाबादः दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में अपहरण कर मानव तस्करी का मामला सामने आया है. इस मामले के सामने आने के बाद खुलासा हुआ है कि एक साल पहले यानि 12 फ़रवरी 2018 को एक नाबालिग छात्रा का अपहरण कर उसे  20 हजार रुपये में 45 साल के युवक से सौदा किया गया था, जिसके बाद आरोपी ने उससे उसकी बिना मर्जी के शादी कर ली और एक साल तक उसे घर में ही कैद रखकर उसके साथ जबरन सबन्ध बनता रहा. यह खुलासा पीड़िता ने एक साल बाद यानि 19 फ़रवरी को आरोपियों के चंगुल से छूटने के बाद किया.

एक साल तक रेप की शिकार हुई बच्ची ने बीते 4 जून को एक बच्चे  को जन्म दिया है. अब पीड़िता और उसका परिवार सरकार से न्याय मांग रहा है उनके मुताबिक़ अभी पुलिस ने अपहरणकर्ताओ और उसकी कथित सास, ननद सहित मुख्य आरोपियों को गिरफ़्तार नहीं किया है. वही पीड़ित लड़की के माता-पिता अपनी बच्ची के मिलने के काफी खुश तो हैं ही उनका कहना है की बेटी ने जिस बच्चे को जन्म दिया है वह उसे भी लेंगे.

पीड़ित के मुताबिक एक साल पहले नाबालिग छात्रा का अपहरण हुआ था, जिसके बाद उसका दिल्ली में सौदा हुआ. फिर उत्तर प्रदेश के 45 साल के अधेड़ उम्र के युवक ने उससे जबरन शादी कर ली और फिर एक साल तक बंधक बना कर रेप करता रहा. पीड़ित के मुताबिक़ आरोपी इस दौरान बच्ची को घर से बाहर नहीं निकलने देते थे और न ही उसकी पहुंच तक मोबाईल को आने देते थे. यहां तक की उसे केवल एक टाइम ही खाना दिया जाता था.

एक दिन पीड़ित को उस समय मौका मिल गया जब आरोपी गलती अपना मोबाईल फोन घर ही चार्जिंग में लगा छोड़ गया. जिसके बाद पीड़ित बच्ची ने मौक़ा पाकर उस फोन से अपने परिजनों को उत्तर प्रदेश के बदायूं में होने की सूचना दी. परिवार ने तुरंत पुलिस को सूचना दी और पुलिस ने रेड कर बच्ची को बरामद करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. लेकिन पीड़िता और उसका परिवार अपहरणकर्ताओं और कथित सास और ननद और उसका सौदा करने वालों को भी गिरफ्तार करने की मांग कर रहे है.

वहीं जब नाबालिग बच्ची द्वारा आपताल में एक बच्चे को जन्म देने की जानकारी महिला आयोग की टीम की सदस्य रेनु भाटिया को लगी तो वह पीड़ित बच्ची से मिलने अस्पताल पहुंच गई और पीड़ित बच्ची का हालचाल जाना और अस्पताल के डॉक्टरों को बच्ची और उसके बच्चे का विशेष ध्यान रखने की बात कही. इस मौके पर रेनु भाटिया ने बच्ची के माता पिता से बात की तो उन्होंने बताया कि इस घटना में उनकी बच्ची की कोई गलती नहीं है अब उनके कंधो पर दो दो जिम्मेदारी आ गई है.