कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज यानी सोमवार को लोकसभा सदस्य पद की शपथ लेंगे. राहुल ने ट्विटर पर जानकारी देते हुए लिखा, 'लोकसभा के सदस्य के रूप में मेरा लगातार चौथा कार्यकाल आज से शुरू हो रहा है. केरल के वायनाड का प्रतिनिधित्व करते हुए मैं आज शपथ लेकर संसद में अपनी नई पारी की शुरुआत करूंगा. मैं भारत के संविधान के प्रति सच्चा विश्वास और निष्ठा रखूंगा.'

राहुल गांधी केरल के वायनाड संसदीय क्षेत्र से सांसद चुने गए हैं. हालांकि वह वायनाड के साथ अमेठी से भी चुनाव लड़े थे जहां उन्हें बीजेपी की उम्मीदवार स्मृति ईरानी से शिकस्त का सामना करना पड़ा था. राहुल गांधी वायनाड के सांसद के तौर पर आज शपथ लेंगे.

My 4th consecutive term as a Member of the #LokSabha begins today. Representing Wayanad, Kerala, I begin my new innings in Parliament by taking my oath this afternoon, affirming that I will bear true faith and allegiance to the Constitution of India 🇮🇳

— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) June 17, 2019

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ 17वीं के लोकसभा के अन्य सदस्यों ने सोमवार को शपथ ली. पीएम मोदी ने कहा कि 17वीं लोकसभा के पहले दिन विपक्ष से सदन में अपनी संख्या के बारे में चिंता ना कर सदन की कार्यवाही में सक्रियता से भाग लेने का आग्रह किया. लोकसभा के पहले सत्र से पहले मोदी ने कहा कि संसदीय लोकतंत्र में विपक्ष और सक्रिय विपक्ष की भूमिका बहुत जरूरी है.

मोदी ने कहा कि विपक्ष को अपनी संख्या के संबंध में चिंता करने की जरूरत नहीं है. मुझे उम्मीद है कि वे सदन की कार्यवाही में सक्रियता से बोलेंगे और भाग लेंगे. उन्होंने संसद सदस्यों से देश के विकास के लिए निष्पक्ष तरीके से काम करने का आग्रह किया.

उन्होंने कहा, जब हम संसद में आते हैं, तो हमें पक्ष (सत्ता) और विपक्ष को भूल जाना चाहिए. हमें निष्पक्ष भावना से मुद्दों के बारे में सोचना चाहिए और देश की व्यापक भलाई के लिए काम करना चाहिए. प्रधानमंत्री ने सदस्यों को संसदीय कार्यवाही को सुचारू रूप से चलाने का आग्रह किया जिससे लोगों की आकांक्षाएं पूरी की जा सकें. मोदी ने इस पर संतुष्टि जताई कि इस लोकसभा में बड़ी संख्या में महिला सांसद हैं.