जुल्म करते हुए वो शख्स लरजता ही नहीं, जैसे कहर के मआनी वो समझता ही नहीं। बीआरटी कॉरिडोर में उनकी गाड़ी ठुक गई थी। फिर बैरागढ़ पुलिस ने उने इत्ता बेरहमी से ठोका के एक युवक की जान चली गई। मृतक शिवम मिश्रा एक पुलिस एएसआई का इकलौता बेटा था। दिखावे के लिए टीआई समैत पांच पुलिस वाले सस्पेंड कर दिए गए। बाकी सस्पेंड करना कोई सजा नहीं होता। राजधानी की पुलिस कित्ती निर्दयी हो सकती है ये उसकी बानगी है। मृतक की शार्ट पीएम रिपोर्ट में हार्ट फेल मौत की वजह बताई गई। मां प्रार्थना करती रही वाला बक्सा बेहद मार्मिक रहा। अब वक्त आ गया है कि ऐसे बेरहम पुलिस वालों पे सख्त कार्रवाई की जाए। बैरसिया में अतिकुपोषित बच्चे की तस्वीर सरकारी सिस्टम पे सवाल उठाती है। आखिरकार सरकार ने प्रापर्टी गाइडलाइन की दर 20 प्रतिशत घटा दी।