यहां भी सुरेश उपाध्याय के करप्शन की दास्तान पसरी हुई है। साथ ही कमलनाथ सरकार मीसाबंदी पेंशन बंद होने वाली खबर भी यहां सेट हो गई। सेहत के मामले में मप्र एक पायदान नीचे खिसक गया। अशोक गौतम बता रहे हैं कि अवैध डंपरों पे चार लाख का जुर्माना और खदानों पे 50 गुना पैनाल्टी की तैयारी है। वेलमुर्गम साब ने भोपाल के बीआरटीएस में सुधार की गुंजाइश बताई। मेट्रो प्रोजेक्ट में बिना एमओयू के टेंडर सहित दूसरी गड़बड़ियों पे कमलनाथ को झूंझ आ गई। स्कूल बसों में इमरजेंसी गेट की जगह तक सीटें लगी हुई थीं। गांवों में नौकरी करने की अनिवार्यता डाक्टरों के लिए जरूरी वाली खबर जितेंद्र चौरसिया ने उम्दा पटकी। मॉब लिंचिंग करने वालों के खिलाफ सख्त कानून वाली खबर अरुण तिवारी ने नायाब निकाली।